Thursday, 30 January 2020

मध्यप्रदेश के आगर से भाजपा विधायक मनोहर ऊंटवाल का निधन, मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह नें जताया शोक।


भोपाल: मध्यप्रदेश के आगर निर्वाचन क्षेत्र के भाजपा विधायक एवं पूर्व सांसद मनोहर ऊंटवाल का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार सुबह निधन हो गया। कुछ दिन पहले उन्हें ब्रेन हेमरेज होने के कारण इंदौर स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां से बेहतर इलाज के लिए उन्हें दिल्ली रेफर किया गया था।



1963 में धार जिले के बदनावर में जन्मे मनोहर ऊंटवाल पांच बार विधायक और एक बार सांसद रहे। वह 1988 से 2014 के बीच चार बार विधायक रहे। 1986 में पार्षद का चुनाव जीतकर उन्होंने अपना राजनीतिक जीवन शुरू किया था। 2014 के लोकसभा चुनाव में देवास संसदीय सीट से सांसद थे। 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने उन्हें आगर-मालवा से टिकट दिया था। मनोहर ऊंटवाल भाजपा के कद्दावर नेता थे। शिवराज मंत्रिमंडल में मंत्री भी रहे। उनके परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटियां और एक बेटा है ।

भाजपा सहित राजनैतिक गलियारे में शोक की लहर।

मनोहर ऊंटवाल के दुखद निधन पर मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह और भाजपा के मुख्य सचेतक नरोत्तम मिश्रा ने दुख व्यक्त किया है। वही बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने ट्वीट कर लिखा है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता साथी विधायक श्री मनोहर ऊँटवाल जी के दुःखद निधन का समाचार अत्यंत ही पीड़ा दायक है ।ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणो में स्थान दें। ॐ शान्ति।

मुख्यमंत्री कमलनाथ नें जताया शोक।
मनोहर ऊंटवाल के दुखद निधन पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट करते हुये लिखा, प्रदेश के आगर के विधायक मनोहर उंटवाल  के दुःखद निधन का समाचार प्राप्त हुआ। वे पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे। परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।


पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने जताया गहरा शोक।
मनोहर ऊंटवाल के दुखद निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज ने गहरा शोक जताया है। शिवराज ने ट्वीट कर लिखा है कि बड़े गौर से सुन रहा था ज़माना, तुम ही सो गए दास्ताँ कहते, कहते। शिवराज ने ट्वीट कर लिखा है कि बीजेपी के प्रदेश महामंत्री, पूर्व सांसद, पूर्व मंत्री, आगर से विधायक और अत्यंत लोकप्रिय नेता, जो सहज, सरल और समर्पित व्यक्तित्व के धनी थे, श्री मनोहर ऊंटवाल जी अब इस दुनिया में नहीं रहे। आज ही सवेरे श्री मनोहर ऊंटवाल जी ने दिल्ली के मेदांता अस्पताल में अंतिम सांस ली। उनके असमय निधन से मध्यप्रदेश की जनता ने अपने प्रिय सेवक को खोया है। उनका पूरा जीवन प्रदेश एवं देशवासियों की सेवा में समर्पित रहा। उनका निधन पूरे मध्यप्रदेश की क्षति है।
आगे शिवराज ने भावुक होते हुए लिखा है कि श्री मनोहर ऊंटवाल जी मेरे व्यक्तिगत मित्र थे, भाई थे, निकट सहयोगी थे। बीजेपी ने अपने प्रिय कार्यकर्ता को खोया है और मैंने अपने व्यक्तिगत मित्र को।
भगवान उनके परिवार को यह असह्य वेदना सहने की शक्ति दे।बड़े गौर से सुन रहा था ज़माना, तुम ही सो गए दास्ताँ कहते, कहते।

मध्यप्रदेश में अब एक और उपचुनाव।
मनोहर लाल ऊंटवाल के निधन के बाद मध्यप्रदेश में एक औऱ सीट खाली हो गई है। इससे पहले मुरैना जिले की जौरा विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया था। वो लंबे समय से कैंसर से पीड़ित थे। उनकी उम्र 66 साल के थे।

No comments:

Post a comment

Latest Post

बिजली समस्या को लेकर कांग्रेस की चुरहट इकाई नें, मवई विद्युत वितरण केन्द्र का किया घेराव।

सीधी / चुरहट: काग्रेस पार्टी (चुरहट इकाई) द्वारा बिजली की समस्या को लेकर मवई डी.सी. कार्यालय का घेराव किया गया। गरीब मजदूर, आम जनता एवं किसा...