Monday, 13 January 2020

दीपक बाबरिया के बयान से, पीसीसी चीफ़ को लेकर अटकलों का बाजार एक बार फिर गर्म।


भोपाल: मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रभारी दीपक बाबरिया के एक बयान से,पीसीसी चीफ़ को लेकर अटकलों का बाजार एक बार फिर गर्म हो गया है। दीपक बाबरिया के बयान के मुताबिक़ मध्य-प्रदेश में नए पीसीसी चीफ को लेकर अब इंतजार खत्म होने वाला है। जल्द ही कांग्रेस आलाकमान पीसीसी चीफ का ऐलान करने वाला है।
अब बाबरिया के इस बयान के बाद सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गई है और रेस में शामिल कांग्रेस नेताओं की धड़कने बढ़ गई है। 
दीपक बाबरिया का यह बयान ऐसे वक़्त पर आया है, जब पीसीसी चीफ़ के प्रबल दावेदार ज्योतिरादित्य सिंधिया की राज्यसभा में जाने की अटकलें तेज है। राजनैतिक तौर पर इन दोनों बातों को जोड़कर देखा जा रहा है। ऐसे में यह माना जा रहा की, अब पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की राह पीसीसी चीफ़ के लिये आसान होती दिख रही है। गौरतलब है की, अभी सूबे के मुख्यमंत्री कमलनाथ दोहरी जिम्मेदारी निभा रहे हैं, और वो पीसीसी चीफ भी हैं।

सिंधिया के राज्यसभा जानें से क्या अजय सिंह की राह होगी आसान।
दरअसल, प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में पिछले एक साल से जारी नए अध्यक्ष की तलाश जल्द खत्म हो सकती है। बाबरिया का कहना है कि  कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के नाम को लेकर सोनिया गांधी ने सब कुछ तय कर लिया है केवल नाम का एलान होना बाकी है। अब कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के नाम को लेकर दीपक बाबरिया के इस बयान ने हलचल तेज कर दी है। फिलहाल कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पद को लेकर पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह प्रबल दावेदार बताए जा रहे हैं। लोकसभा चुनाव के पहले तो अजय सिंह का नाम लगभग तय हो गया था, कांग्रेस नेता, विधायक एवं मंत्री तो उनके सरकारी निवास पहुंचकर उन्हें बधाई भी देनें लगे थे, लेकिन ऐन वक़्त पर उनके नाम की घोषणा रुक गयी थी।

वहीं दूसरी तरफ, सिंधिया के समर्थक मंत्री और विधायक सिंधिया के नाम का पीसीसी चीफ़ के लिये कई बार खुले तौर पर समर्थन कर चुके है। हालांकि दूसरी तरफ सिंधिया के राज्यसभा जाने की अटकलें इन दिनों तेजी से लगाई जा रही है। कहा जा रहा है कि सिंधिया को राज्यसभा भेज आलाकमान समर्थकों और उनके गुटों को शांत कर सकता है, वही पीसीसी चीफ मुख्यमंत्री कमलनाथ के पंसद के किसी व्यक्ति को बनाया जा सकता है। इसके लिए कमलनाथ और आलाकमान के बीच चर्चा भी हो चुकी है। यही वजह है कि समर्थक मंत्री और नेता अब पीसीसी चीफ के बदले सिंधिया को राज्यसभा भेजे जाने की लगातार मांग कर रहे है।माना जा रहा है कि अगर नाथ के करीबी को पीसीसी अध्यक्ष बन जाता है, तो चार साल में उसके लिए कोई समस्या नहीं होगी। उम्मीद की जा रही है इसका ऐलान जल्द किया जाएगा, ताकी आगे निगम मंडलों की नियुक्ति के काम में भी तेजी आ सके। वही उपचुनाव पर भी सरकार अपनी पकड़ तेज कर सके और संगठन को मजबूती मिले।

पीसीसी चीफ़ के लिये इन नामों की भी चर्चा।
सिंधिया एवं अजय सिंह के अलावा, कमलनाथ सरकार के मंत्री बाला बच्चन, सज्जन सिंह वर्मा एवं जीतू पटवारी का नाम भी पीसीसी चीफ के लिए चल रहा है। लेकिन आलाकमान ने एक पद एक फार्मूला होने की बात भी कही थी। ऐसे में इनका नाम रेस से बाहर हो सकता है। इनके अलावा कान्तिलाल भूरिया, उमंग सिंघार एवं रामनिवास रावत भी दौड़ में है।

4 comments:

  1. अपनी हार से कांग्रेस की जीत तय करने वाले विध्य के दिग्गज नेता श्री अजय सिह राहुल भईया को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाना चाहिये, ताकी काग्रेस पार्टी के लिये समर्पण की भावना रखने वाले नेतायो को बढ़ावा मिल सके,ईस समय अनुशासन की जरुरत है,

    ReplyDelete
  2. Congress ke din kharab chalrhe hai

    ReplyDelete
  3. Is समय मध्यप्रदेश में अजय सिंह राहुल भईया से बेहतर प्रदेश अध्यक्ष को हो नहीं सकता मध्यप्रदेश को भईया की जरूरत है

    ReplyDelete
  4. Pcc chif Ajay singh rahul bhaiya hone chahiye

    ReplyDelete

Latest Post

AUDIO: भाजपा जिलाध्यक्ष के वायरल ऑडियो पर बवाल, जानिये जिलाध्यक्ष की प्रतिक्रिया?

सीधी: आज सीधी के राजनैतिक गलियारे में एक वायरल  ऑडियो नें भूचाल ला दिया। आज दिनभर इस वायरल  ऑडियो की चर्चा पूरे जिले में होती रही। दरअसल, स...