Tuesday, 17 December 2019

गुना से भाजपा सांसद के.पी यादव का जाति प्रमाण निरस्त होनें के क्या मायनें? क्या समाप्त होगी लोकसभा सदस्यता?


भोपाल: मध्य प्रदेश की गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट से भाजपा सांसद के.पी यादव का जाति प्रमाण पत्र निरस्त होने से, अब आगे क्या हो सकता है, आइये जानतें है। 

7 वर्ष तक की सजा के साथ-साथ, लोकसभा सदस्यता भी समाप्त हो सकती है।
सांसद के पी यादव एवं उनके बेटे सार्थक यादव के खिलाफ आईपीसी की धारा 466 (दस्तावेज की कूट रचना) एवं 181 (शपथ दिलाने या अभिपुष्टि कराने के लिए प्राधिकॄत लोक सेवक के, या व्यक्ति के समक्ष शपथ या अभिपुष्टि पर झूठा बयान) के तहत मामला दर्ज हो सकता है। यदि ऐसा हुआ और इन मामलों में सांसद के पी यादव दोषी पाए गए तो अधिकतम 7 वर्ष तक की सजा हो सकती है। ऐसी स्थिति में के पी यादव की लोकसभा सदस्यता समाप्त हो सकती।

पूरा मामला क्या है ?
अशोकनगर जिले की मुंगावली एसडीएम श्री बीवी श्रीवास्तव ने  गुना सांसद केपी यादव का जाति प्रमाण पत्र निरस्त होनें की पुष्टि की है। SDM श्रीवास्तव ने बताया कि मामला इनके चिरंजीव सार्थक यादव से जुड़ा है। दोनों पिता-पुत्र का जाति प्रमाण पत्र निरस्त कर प्रतिवेदन एडीएम अशोकनगर को भेज दिया गया है। 
मामला सन 2014 का है। एसडीएम मुंगावली एक शिकायत की जांच कर रहे थे। शिकायत में बताया गया था कि भाजपा सांसद केपी यादव ने अपने बेटे को आरक्षण का लाभ दिलाने के लिए अपनी वार्षिक आय क्रीमी लेयर (800000 प्रतिवर्ष) से कम बताई थी। लेकिन जांच में पाया गया कि सांसद कृष्णपाल सिंह यादव की वार्षिक आय ₹800000 से ज्यादा है अतः सार्थक यादव एवं उनके सांसद पिता के पी सिंह यादव दोनों का जाति प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया गया ताकि भविष्य में आरक्षण का लाभ ना ले पाएं। 

कौन हैं के.पी यादव?
के.पी यादव मध्य-प्रदेश के गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट से भाजपा सांसद है, वो ज्योतिरादित्य सिंधिया को चुनाव हराकर देशभर की सुर्खियों में आए थे। बता दें, भाजपा में आनें से पहले के.पी यादव सिंधिया के ही समर्थक थे, लेकिन बाद में उन्होनें भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी, और सिंधिया के खिलाफ ही 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा और विजयी हुए।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: जिले में मिले 19 नए कोरोना संक्रमित, 10 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग।

कुल संक्रमित 595 डिस्चार्ज 410 एक्टिव केस 183 मृत्यु 2 सीधी: जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ नागेंद्र बिहारी दुबे के द्वारा जानका...