Friday, 13 December 2019

संस्कृत बोलने से मधुमेह, कोलेस्ट्रॉल होता है कम: सतना सांसद, गणेश सिंह का बयान।


सतना: भाजपा के सतना (मध्यप्रदेश) से, सांसद गणेश सिंह ने गुरुवार को एक अजीबोगरीब बयान दे डाला। उन्होनें दावा किया कि अमेरिका के एक शिक्षण संस्थान के शोध के अनुसार रोजाना संस्कृत भाषा बोलने से तंत्रिका तंत्र मजबूत होता है और मधुमेह तथा कोलेस्ट्रॉल कम होता है।

बता दें, सतना सांसद गणेश सिंह नें यह बात, लोकसभा में संस्कृति यूनिवर्सिटीज बिल हो रही चर्चा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि अमेरिका के एक संस्थान में शोध किया गया है जिसमें यह बात सामने आई है कि संस्कृत भाषा से नर्वस सिस्टम बेहतर होता है। यही नहीं, डायबिटीज और कोलेस्ट्रॉल भी कंट्रोल में रहते हैं। उन्होंने यह भी दावा किया कि यूएस स्पेस रीसर्च ऑर्गनाइजेशन नासा के शोध के मुताबिक अगर कंप्यूटर प्रोग्रामिंग संस्कृत में की जाए तो उसमें कोई रुकावट नहीं होगी। 

आगे बोलते हुये उन्होनें ये भी कहा,कि विश्व की 97 प्रतिशत से भी ज्यादा भाषाएं, संस्कृत पर आधारित हैं। इनमें कुछ इस्लामिक भाषाएं भी शामिल हैं।

बिल पर संस्कृत में बात करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रताप चंद्र सारंगी ने कहा कि भाषा बहुत लचीली है और एक वाक्य को कई तरीकों से बोला जा सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि विभिन्न अंग्रेजी शब्द जैसे कि भाई और गाय संस्कृत से लिए गए हैं। सारंगी ने कहा कि इस प्राचीन भाषा के प्रचार से किसी अन्य भाषा पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।  

इसी के साथ लोकसभा ने गुरुवार को देश में तीन मानद संस्कृत विश्वविद्यालयों को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा प्रदान करने वाले केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय विधेयक 2019 को मंजूरी दे दी। इस विधेयक के तहत नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान और श्री लाल बहादुर शास्त्री विद्यापीठ के साथ-साथ तिरुपति स्थित राष्ट्रीय संस्कृत विद्यापीठ को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा प्रदान किया गया है।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना का कहर जारी, जिले में मिले 18 नए कोरोना संक्रमित।

26 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 814 डिस्चार्ज 573 एक्टिव केस 238 मृत्यु 3 सीधी: जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...