Thursday, 21 November 2019

पूर्व मंत्री स्व. इंद्रजीत पटेल की प्रथम पुण्यतिथि पर म.प्र सरकार के आधा दर्जन मंत्रियों ने श्रद्धासुमन अर्पित कर याद किया, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें भी किया याद।


सीधी: मध्यप्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेता एवं पूर्व मंत्री रहे स्वर्गीय इंद्रजीत कुमार पटेल की प्रथम पुण्यतिथि पर कमलनाथ सरकार के कई मंत्री गृह ग्राम सुपेला समाधि स्थल पर श्रद्धासुमन अर्पित करने पहुंचे थे।

गौरतलब है की, 20 नवंबर को 2018 को इंद्रजीत पटेल का निधन हुआ था। स्व. पटेल के पुत्र कमलेश्वर पटेल सिहावल से विधायक तथा कमलनाथ सरकार में पंचयात एवं ग्रामीण विकास मंत्री है।
कमलनाथ सरकार के कई मंत्री सुपेला पहुंचकर,समाधि स्थल पर श्रद्धासुमन अर्पित किये।

सीधी जिले के प्रभारी मंत्री एवं खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने पूर्व मंत्री इन्द्रजीत कुमार पटेल की प्रथम पुण्यतिथि के अवसर पर उनके गृहग्राम सुपेला पहुंचकर समाधि स्थल पर श्रद्धासुमन अर्पित किए।

स्व. पटेल के पुत्र एवं पंचायत ग्रामीण विकास मंत्री  कमलेश्वर पटेल भी  समाधि स्थल पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। कमलेश्वर पटेल के साथ विधानसभा उपाध्यक्ष हिना कांवरे ने भी पहुंचकर पुष्प अर्पित कियें।

दोपहर के बाद उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी, नगरीय निकाय मंत्री जयवर्धन सिंह, काननू एवं जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा एवं कृषि मंत्री सचिन यादव  सीधी जिले के सुपेला पहुंच स्व. इन्द्रजीत कुमार पटेल समाधि पर श्रद्धासुमनअर्पित किए।


पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें भी स्व. इंद्रजीत पटेल को याद किया।
पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें स्व. इंद्रजीत पटेल को याद करते हुये कहा "   विंध्य की माटी के  सपूत, सादगी, सहजता तथा सेवा के लिए याद किये जाने वाले पूज्य दाऊ सा के साथी सहयोगी श्री इंद्रजीत कुमार को प्रथम पुण्यतिथि पर सादर नमन और विनम्र श्रद्धांजलि"

Monday, 18 November 2019

VIDEO: पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा" हनी के ट्रैप में" शिवराज को बदमाश तथा उनकी पत्नी को बताया भयंकर करप्ट।



भोपाल : पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा का एक वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो में वह हनीट्रैप में शामिल श्वेता स्वपनिल जैन के साथ दिख रहें है। साथ ही श्वेता के ट्रैप में आकर पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा अपनी मन की भड़ास भी निकालते हुये दिख रहें है।
व्यापमं घोटाले के आरोपी लक्ष्मीकांत शर्मा जेल काटकर वापस लौटे हैं। वायरल वीडियो/ ऑडियो भी उनके जेल से बाहर आनें के बाद का बताया जा रहा है।
इस वीडियो/ ऑडियो में वह जमकर अपनी मन की भड़ास निकाल रहे हैं। यह वीडियो लोकस्वामी अखबार नें सोशल मीडिया में पोस्ट किया है, सीधी CHRONICLE इस वायरल ऑडियो एवं वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। वायरल वीडियो/ ऑडियो में जो लक्ष्मीकांत शर्मा कह रहे हैं, वहीं बात हम आपके सामने रख रहे हैं।

शिवराज को बताया 'बदमाश'।
पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा कह रहे हैं कि मैंने व्यापमं का पूरा जहर पी लिया है। मैं चाहता तो एक मिनट में इनकी कुर्सी चली जाती थी। लेकिन संगठन हमारी मां है, इसलिए मैंने जहर का पूरा घूंट पी लिया। इसके साथ ही वह मोदी और शिवराज के रिश्ते पर भी श्वेता स्वपनिल जैन से बात करते हैं। लक्ष्मीकांत शर्मा कहते हैं कि मोदी इसका विरोधी है। प्रधानमंत्री के दावेदार में तो इसकी गिनती तो होती नहीं है लेकिन यह खुद को दावेदार मानते थे। वहीं, विधानसभा चुनाव के दौरान जब मैंने बैनर में मोदी का चेहरा लगा दिया तो वह भड़क गए और कहने लगे कि यह चुनाव शिवराज के नाम पर है कि मोदी पर। शिवराज बहुत बदमाश है यार।

शिवराज सिंह की पत्नी को बताया भयंकर करप्ट।
श्वेता स्वपनिल जैन से लक्ष्मीकांत शर्मा कहते हैं। शिवराज की पत्नी भयंकर करप्ट है। मैं एक-एक की जन्मपत्री जानता हूं।

आरएसएस पर भी खड़े किये सवाल।
आगे वह कहते हैं कि राजनीति में आदमी पहले अपना दामन बचाता है। ये शिवराज सिंह बहुत बड़े मतलबी हैं। राजनीति को तो वेश्या का रूप माना जाता है। जब तक संबंध है, तब तक हैं। राजनीति में सब भ्रष्ट हैं। आरएसएस वालों को भी महिलाएं नहीं मिलतीं तो लड़कों से ही संबंध बना लेते हैं।


Sunday, 17 November 2019

मंत्री जीतू पटवारी और सुमित्रा महाजन की बंद कमरे में "चाय पर चर्चा " से मध्य प्रदेश की सियासत गरम।


इंदौर: कमलनाथ सरकार के खेल मंत्री जीतू पटवारी और भाजपा की कद्दावर नेता एवं पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन की आज सुबह की "चाय पर चर्चा " नें मध्य प्रदेश की सियासत को गरमा दिया है।
बता दें की आज, जीतू पटवारी सुबह साइकिल चलाकर सुमित्रा महाजन से मिलने उनके घर पर पहुंचे, जहां बंद कमरे उनकी करीब 25 मिनट तक बातचीत हुई। हला की जीतू पटवारी और सुमित्रा महाजन दोनों इसे सौजन्य मुलाकात बता रहे हैं, लेकिन राजनैतिक गलियारों मे इस मुलाकात के कई मायनें निकाले जा रहे।
गौरतलब है कि, लोकसभा चुनाव में भाजपा द्वारा इन्दौर सीट के लिये टिकट की घोषणा मे देरी की जा रही थी, जिससे आहत होकर सुमित्रा महाजन नें चुनाव ना लड़नें का फैसला किया था, बाद में उन्हें महाराष्ट्र का राज्यपाल बनाए जाने की खबर उड़ी थी, लेकिन वो बात भी नही बनी। सुमित्रा महाजन अपने बेटे मंदार महाजन को भी सक्रिय राजनीति में देखना चाहती है, इसके लिये उन्होनें पहल भी की लेकिन उनके बेटे की राजनैतिक एन्ट्री अभी तक नही हुई, उधर दूसरी तरफ इंदौर के ही भाजपा के दूसरे खेमें के कैलाश विजयवर्गीय नें, अपनें बेटे आकाश को विधानसभा में टिकट दिलाया और वो आज विधायक हैं।
अब ऐसे में जीतू पटवारी से सुमित्रा महाजन की बंद कमरे में करीब 25 मिनट तक हुई बातचीत को, आनें वाले नगरीय निकाय चुनाव से जोड़कर भी देखा जा रहा है।

सुमित्रा महाजन नें की जीतू पटवारी की तारीफ।
सुमित्रा महाजन ने जीतू पटवारी की तारीफ करते हुए कहा कि मैंने उसे अच्छा काम करने के लिए आशीर्वाद दिया है। उन्होंने कहा कि अच्छा काम करने वालों को वो हमेशा सुझाव देती रहती हैं। दोनों पार्टियों में अच्छे लोग हैं उनमें एक जीतू पटवारी भी शामिल हैं।

जीतू पटवारी नें कहा, ताई से मीटिंग का नगरीय निकाय चुनाव से कोई लेना-देना नहीं।
खेल मंत्री जीतू पटवारी का कहना है कि उनकी मुलाकात को राजनीति से जोड़कर न देखा जाए. उन्होंने कहा कि "इस मीटिंग से नगरीय निकाय चुनाव का कोई लेना-देना नहीं है।ताई का स्नेह और मार्गदर्शन उन्हें मिलता रहे वो जरूरी है।उन्होंने कहा कि ताई का लंबा राजनीतिक जीवन रहा है उनका मार्गदर्शन लेता रहता हूं।मेरे क्षेत्र में बड़ी संख्या में मराठी समाज के लोग रहते हैं उनकी समस्याओं के बारे में ताई ने मुझे निर्देशित किया वो बात भी करनी थी." वहीं सुमित्रा महाजन के अपनी पार्टी से नाराजगी के सवाल को टालते हुए मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि अभी तो वो बहुत खुश दिखाई दीं।

Saturday, 16 November 2019

VIDEO: कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह के फोन से डरे चाचौड़ा थाना प्रभारी नें लगाई ट्रांसफर की अर्जी, एसपी ने किया ट्रांसफर लेटर जारी।


गुना: चाचौड़ा से कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह द्वारा, टीआई से सख्त लहजे में बात करते हुये एक वीडियो सोशल मीडिया में काफी तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें वो फ़ोन से सामनें वाले से कह रहें, की आप के नीचे वाला, लोंगों से पैसा ले रहा है। साथ ही कहा कि मैं थाने पर चाचौड़ा पुलिस की दुकान का बोर्ड लगा दूंगा। 

बता दें, की अब चाचौड़ा (गुना जिला) थाना प्रभारी राम शर्मा ने गुना एसपी को 15 नवंबर को एक चिट्ठी लिखी थी। उस चिट्ठी में उन्होंने लिखा कि विधायक प्रतिनिधि सीताराम गुर्जर और नारायण सिंह भील द्वारा मेरे खिलाफ सोशल मीडिया पर वीडियो डाला जा रहा है। जिसमें मुझ पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि मैं भील समाज के लोगों के विरुद्ध ज्यादा कार्रवाई कर रहा हूं। साथ ही, टीआई राम शर्मा ने आगे लिखा कि हमारे थाना क्षेत्र में इस समुदाय विशेष द्वारा अधिकतम अपराध घटित किए जाते रहें हैं।

आगे टीआई राम शर्मा ने कहा की, आरोप लगाने वाला नारायण सिंह भील, पूर्व में पुलिस के नाम पर लोगों से पैसा ऐंठता रहा है। इस कारण मैंने उसे थाने में आने से रोक लगा दिया। जिससे उसकी दलाली बंद हो गई है। सीताराम गुर्जर भी आपराधिक प्रवृत्ति का है। जिससे परेशान होकर आए दिन दोनों झूठी शिकायतें कर रहे है।


कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह पर धमकी का आरोप।
टीआई राम शर्मा ने लिखा कि इन्हीं सब विवादों को लेकर पंद्रह नवंबर को मेरे मोबाइल पर विधायक चाचौड़ा लक्ष्मण सिंह का फोन आया और मुझे अपशब्द कहा। साथ ही कहा कि थाने पर चाचौड़ा पुलिस की दुकान का बोर्ड लगा दूंगा। उक्त कृत्य से मेरी वर्दी और मेरे आत्मसम्मान को बहुत ठेस पहुंची है, मैं ऐसे माहौल में अपनी नौकरी नहीं कर सकता हूं। मेरा निवेदन है कि मेरा थाना चांचौड़ा से कहीं और ट्रांसफर करने की कृपा करें।

एसपी ने टीआई का किया ट्रांसफर।
टीआई की अर्जी के बाद गुना एसपी राहुल कुमार लोढ़ा ने आवेदन स्वीकार करते हुए उनका ट्रांसफर कर दिया है। अब जामनेर थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह यादव को चाचौड़ा का थाना प्रभारी बनाया गया है। जबकि चाचौड़ा थाना प्रभारी राम शर्मा को जामनेर भेज दिया गया है। इसे लेकर एसपी ने लेटर जारी कर दिया है।


देखें वीडियो (टीम सीधी CHRONICLE वीडियो की सत्यता की पुष्टि नही करता) 👇👇


Friday, 15 November 2019

म.प्र: भाजपा में 50 की उम्र पार करनें वाले जिला अध्यक्ष होंगे बाहर, सीधी जिला अध्यक्ष डॉ.राजेश मिश्रा भी 50 पार के फार्मूले में।


भोपाल / सीधी: मध्यप्रदेश में भाजपा जिला स्तर पर अपने संगठन को और भी मजबूत करनें की तैयारी कर रही है। इसके लिए पहले से पदस्थ जिला अध्यक्षों जगह पर पर दूसरे व्यक्ति को जिला संगठन को मजबूत करने का दायित्व दिया जाएगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बार नए जिला अध्यक्षों को बनाने के लिए 50 की उम्र की सीमा रखी गई है। यानी पचास की उम्र पार कर चुके नेता पहले ही इस दौड़ से बाहर हो जाएंगे।
यदि ऐसा होता है तो कई वरिष्ठ भाजपा जिला अध्यक्ष इस फार्मूले के तहत अपनी कुर्सी गवां बैठगें।

50 की उम्र पार करनें वाले जिला अध्यक्ष होंगे बाहर।
मध्यप्रदेश भाजपा के जिला अध्यक्षों में कई जिला अध्यक्ष 50 साल की उम्र सीमा पार कर चुके हैं। इन पर भी 50 पार का फार्मूला चलाया जा सकता है। पार्टी के वरिष्ठ नेता भी कह रहे हैं कि इस बार हर हाल में यह फार्मूला लागू किया जाएगा।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, उम्र के साथ ही कुछ जिलाध्यक्षों को निष्क्रियता और उदासीनत के कारण भी उन्हें बदला जा सकता है।

सीधी भाजपा जिला अध्यक्ष डॉ. राजेश मिश्रा भी 50 पार के फार्मूले में।
मध्यप्रदेश के सीधी जिले के भाजपा अध्यक्ष डा. राजेश मिश्रा की भी कुर्सी, 50 के उम्र के फार्मूले के तहत फसती हुई दिख रही।


बता दें, डॉक्टर राजेश मिश्रा सीधी के लिये एक जाना पहचाना नाम है, उन्होनें राजनीति की शुरुआत बहुजन सामज पार्टी से करते हुये विधानसभा का चुनाव भी लड़ा था, जिसमें उन्हे हार का सामना करना पड़ा था। बाद में वे भाजपा में सम्मलित हो गये। 2018 के मध्य-प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले भाजपा नेतृत्व ने, तत्कालीन सीधी जिला अध्यक्ष श्री लालचंद्र गुप्ता को हटाकर डॉक्टर राजेश मिश्रा को भाजपा जिला अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठा दिया गया था, जिस पर काफी बबाल हुआ था, और अपदस्थ तत्कालीन अध्यक्ष लालचंद्र गुप्ता, थोड़े दिन बाद लोकसभा चुनाव 2019 के पहले अपनें समर्थकों सहित भाजपा छोड़कर कांग्रेस मे सम्मलित हो गये थे, और आज वो मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष है।

डा.राजेश मिश्रा नें भाजपा जिला अध्यक्ष के रुप मे संगठन को मजबूती प्रदान की, जिसका रिजल्ट विधानसभा और लोकसभा दोनों चुनावों में दिखा और भाजपा नें पहले के चुनावों से कहीं बेहतर प्रदर्शन किया।
अब यह देखना बेहद दिलचस होगा की, एक बेहतरीन परफॉरमेंस वाले जिला अध्यक्ष को क्या उम्र की सीमा में बांधकर उन्हे पद से हटा दिया जायेगा?
सीधी के साथ साथ इन जिला अध्यक्षों की कुर्सी पर भी खतरा।
  • दो बार जिला अध्यक्ष रह चुके होशंगाबाद के हरिशंकर जायसवाल 50 पार फार्मूले के तहत बाहर हो सकते हैं। 
  • लगातार पार्टी की पराजय के कारण आलीराजपुर के किशोर शाह को हटाए जाने की चर्चा है।
  • हरदा जिले के अमरसिंह मीणा और रायसेन जिले में धर्मेंद्र चौहान को निष्क्रियता के कारण बदला जाएगा।
  • सागर में भी प्रभुदयाल पटेल पर उदासीन रवैये के कारण नया चेहरा लाया जा सकता है। 
  • विदिशा के राकेश सिंह जादौन से भी प्रदेश संगठन काफी नाराज है।
  • ग्वालियर के देवेश शर्मा की भी यही स्थिति है।
  • शिवपुरी में वीरेंद्र रघुवंशी, श्योपुर के गोपाल आचार्य, मुरैना के केदार सिंह यादव का नाम परिवर्तन सूची में है।
  • पन्ना के सदानंद गौतम दो बार जिलाध्यक्ष रहे, रीवा में विद्याप्रकाश श्रीवास्तव का भी नाम लिस्ट में।
  • कटनी के जिलाध्यक्ष पीतांबर टोपनानी, मंडला के जिलाध्यक्ष रतन ठाकुर, बालाघाट में नरेंद्र रंगलानी, छिंदवाड़ा में नरेंद्र राजू परमार, इंदौर में गोपीकृष्ण नेमा को उम्र के कारण हटाया जा सकता है।
  • खंडवा के हरीश कोटवाले को लगातार दो बार अध्यक्ष बनने के बाद हटाया जा सकता है।
  • सतना जिलाध्यक्ष नरेंद्र त्रिपाठी के नाम पर सांसद गणेश सिंह असहमत हैं।
  • भोपाल, इंदौर, जबलपुर, उज्जैन सहित ग्रामीण जिलाध्यक्षों को अलग-अलग बदलने की तैयारी है।
  • नीमच के हेमंत हरित यादव, रतलाम के राजेंद्र सिंह लूनेरा, मंदसौर के राजेंद्र सुराना,खरगोन में परसराम चौहान, बड़वानी में ओम खंडेलवाल, धार में डॉ. राज वरफा, शाजापुर के नरेंद्र सिंह बैस, आगर-मालवा के दिलीप सखलेचा, देवास के नंदकिशोर पाटीदार को बदला जाएगा।

Monday, 11 November 2019

VIDEO: सिंधिया के चरणों में साष्टांग दण्डवत होकर चरण वंदना करते नजर आए थे मंत्री, अब सिंधिया ने दी अपनी प्रतिक्रिया।


ग्वालियर: आज एक ऐसा दृश्य  देखने में आया जब कमलनाथ सरकार के मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के ना सिर्फ पैर छुए बल्कि उन्होंने लेटकर साष्टांग दंडवत प्रणाम भी किया, जिसका वीडियो देखते ही देखते वायरल हो गया, और राजनैतिक गलियारों में इसकी चर्चा जोर पकड़नें लगी, लगे हांथ भाजपा को भी चुटकी लेनें का मौका मिल गया।

दरअसल, ज्योतिरादित्य सिंधिया आज एक दिवसीय दौरे पर ग्वालियर आये थे। ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर सिंधिया का  स्वागत करने के लिए कमल नाथ सरकार के खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर भी पहुंचे थे। मंत्री ने सिंधिया को देखते ही पहले हाथ जोड़कर प्रणाम किया फिर पैर छुए और फिर दंडवत प्रणाम करने के लिए मंत्री साष्टांग लेट गए। सिंधिया ने तत्काल उन्हें सहारा देकर उठाया। लेकिन ये पूरा वाकया कैमरों में कैद हो गया और थोड़ी देर में वीडियो वायरल हो गया। जब कांग्रेस नेताओं से मंत्री द्वारा किए गए इस साष्टांग दंडवत प्रणाम के बारे में पूछा गया तो वो कुछ नही बोले । वही मंत्री तोमर से जब मीडिया ने इस तरह प्रणाम पर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि राजस्थान में  इसी तरह प्रणाम की परंपरा है जो मैंने भी निभाई। 
गौरतलब है की, प्रद्युम्न सिंह तोमर सिंधिया खेमे के ही माने जाते हैं। और पिछले कुछ दिनों से अपने सफाई अभियान को लेकर चर्चा में बने रहे हैं। कुछ दिनों पहले मंत्री ने नाली में उतरकर उसे साफ किया था और ग्वालियर शहर में वास्तविक सफाई अभियान की शुरुआत की थी।वही प्रद्युम्न सिंह तोमर, कमलनाथ सरकार के उन मंत्रियों में शामिल हैं जो जिन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्यप्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाने की मांग की थी।

मंत्री की चरण वंदना से, सिंधिया हुये नाराज।
अब ज्योतिरादित्य सिंधिया कमलनाथ सरकार के खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर की चरण वंदना से नाराज हो गए हैं। 
पत्रकारों द्वारा पूछें जानें पर उन्होंने कहा कि मैं ऐसी बातों के पक्ष में नहीं हूँ। इससे मुझे ख़ुशी नहीं हुई बल्कि दुःख हुआ है। 
साथ ही सिंधिया ने साफ कहा कि मैंने प्रद्युम्न को कह दिया है कि ये गलत है ।

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने उठाये सवाल।
वीडियो वायरल होते ही मप्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मंत्री गोपाल भार्गव ने इसे लोकतंत्र का अपमान बता दिया। 

मैं सिंधिया परिवार का सेवक हूँ : तोमर
वहीं सार्वजानिक तौर पर ज्योतिरादित्य सिंधिया की चरण वंदना को लेकर उठ रहे सवाल पर मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का कहना है कि मैं सेवक हूँ, जनता और सिंधिया परिवार का सेवक हूँ मालिक नहीं और मैंने एक सेवक के नाते जो किया है उसपर मुझे गर्व है। 
देखें वीडियो👇👇

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के चचेरे भाई का निधन, चुरहट के रावसागर में किया गया अंतिम संस्कार। ।


चुरहट / सीधी:  पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के चचेरे भाई  एवं पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय कुंवर अर्जुन सिंह के भतीजे डा. विजय सिंह का कल रीवा में निधन हो गया।


बता दें की, दिवंगत डा. विजय सिंह, बघेलखंड में चिकित्सा सेवाएं, रेडक्रास सोसाइटी, चिन्मय मिशन तथा अन्य बौद्धिक संस्थानों के माध्यम से प्रथम पंक्ति के गैरराजनीतिक समाजसेवी, चुरहट परिवार के सदस्य व वरिष्ठतम चिकित्सक डा.सजन सिंह के बड़े पुत्र, पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह के भतीजे एवं पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के चचेरे भाई थे।

डा. विजय सिंह की पहचान एक जमीन से जुड़े व्यक्तित्व की थी, वो रात के दो बजे भी चुरहट/ सीधी से आये लोंगों को देखनें एवं उनका हाल जाननें रीवा के अस्पतालों मे पहुंच जाया करते थे।

डा. विजय सिंह जी का अंतिम संस्कार आज चुरहट स्थित रावसागर पर किया गया।


Sunday, 10 November 2019

IND Vs BAN: दीपक चहर की हैट्रिक के साथ ही, भारत नें ट्वेंटी-ट्वेंटी सीरीज 2-1 से जीती।


IND Vs BAN: भारत के युवा तेज गेंदबाज दीपक चहर ने बांग्लादेश के खिलाफ आखिरी ट्वेंटी-ट्वेंटी मुकाबले में हैट्रिक लेकर इतिहास रच दिया ।चहर ट्वेंटी-ट्वेंटी में हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय गेंदबाज बने। तीसरे ट्वेंटी-ट्वेंटी मुकाबले में चहर ने 7 रन देकर 6 विकेट लिए जो कि ट्वेंटी-ट्वेंटी इंटरनेशनल में किसी भी गेंदबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।
दीपक चहर ने नया इतिहास रचते हुए श्रीलंका के गेंदबाज मेंडिस का रिकॉर्ड तोड़ा।मेंडिस ने 2012 में 8 रन देकर 6 विकेट लिए थे जो कि इस मैच से पहले तक ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट में किसी भी गेंदबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। लेकिन इस मैच के बाद यह रिकॉर्ड चहर के नाम हो गया है। चहर के अलावा चहल भी ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट में 6 विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज हैं।
चहर ने 18वें ओवर की आखिरी गेंद पर इस्लाम को आउट किया था. इसके बाद मैच का आखिरी ओवर की पहली दो गेंदों पर रहमान और अमीनुल को अपना शिकार बनाकर ट्वेंटी-ट्वेंटी इंटरनेशनल में अपनी पहली हैट्रिक ली. चहर भारत की तरफ से भी इस फॉर्मेट में हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज हैं.
भारत ने जीती सीरीज।
दीपक चहर की शानदार हैट्रिक की बदौलत टीम इंडिया तीन मैचों की ट्वेंटी-ट्वेंटी सीरीज 2-1 से जीतने में कामयाब रही।175 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश की टीम 144 रन बनाकर ऑलआउट हो गई भारत ने तीसरा ट्वेंटी-ट्वेंटी तीस रन से जीता. शिवम दुबे ने भी तीन विकेट लिए।

महाराष्ट्र: भाजपा का राज्य में सरकार बनानें से इनकार, कहा हमारे पास बहुमत नहीं।


मुंबई: महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर अभी भी स्थिती साफ नही हुई है और उथल पुथल मची हुई है। राज्यपाल से मुलाकात के बाद महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि हम राज्य में सरकार नहीं बना रहे हैं। महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात के बाद यह बयान दिया।चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि राज्यपाल से मुलाकात कर हमने उन्हें बताया कि हमारे पास बहुमत नहीं है।हम राज्य में अकेले सरकार नहीं बना सकते हैं।

राज्यपाल से मुलाकात करनें के लिये महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के साथ साथ देवेंद्र फडणवीस भी गये थे, राज्यपाल से मुलाकात के बाद श्री पाटिल नें कहा कि हम राज्य में सरकार नहीं बना रहे हैं, पाटिल ने कहा कि हमें (भाजपा-शिवसेना) एक साथ काम करने के लिए जनता नें बहुमत दिया था, लेकिन शिवसेना इसका अनादर कर रही है, उन्होनें आगे कहा की, यदि शिवसेना कांग्रेस-राकांपा के साथ सरकार बनाना चाहती है, तो हमारी शुभकामनाएं उनके साथ हैं।अब भाजपा अध्यक्ष के बयान के बाद ऐसा माना जा रहा है कि राज्यपाल, शिवसेना को सरकार बनाने के लिए बुलाएंगे।


गौरतलब है कि, महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों में से बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54, कांग्रेस को 44 और अन्य को 29 सीटें मिली हैं। इस तरह से बीजेपी-शिवसेना गठबंधन के पास बहुमत के आंकड़े हैं, लेकिन सीएम पद और 50-50 फॉर्मूले पर फंसे पेच के चलते मामला अटक गया था, जिसके बाद देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। फडणवीस और राज्य के अन्य मंत्रियों ने शुक्रवार को राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात कर अपना इस्तीफा सौंपा दिया था।

सोनिया गांधी ने SPG प्रमुख को पत्र लिख कर, अब तक की सुरक्षा के लिए जताया आभार ।


नई दिल्ली: सोनिया गांधी ने SPG प्रमुख अरुण सिन्हा को एक पत्र लिखा है। सोनिया ने अपने पत्र में अब तक की सुरक्षा के लिए आभार जताया है, साथ ही लिखा कि वे पूरे परिवार की ओर से एसपीजी का धन्यवाद देती हैं। उन्होंने 
पत्र में आगे लिखा है कि जिस तरह से एसपीजी ने समर्पण व व्यक्तिगत तरीके से उनकी देखभाल की उसकी वे गहरी प्रशंसा करती हैं और धन्यवाद व्यक्त करती हैं।

अपने पत्र में सोनिया ने लिखा है कि जबसे हमारी सुरक्षा एसपीजी के हाथों में आई मैं और मेरे परिवार को इस बात का पूरा विश्वास हो गया कि हमारी सुरक्षा सबसे बेहतर हाथों में है। पिछले 28 सालों में प्रत्येक दिन जिस तरह एसपीजी ने हमारी सुरक्षा की उससे हमने आपका उच्च पेशेवर रवैया और कर्तव्य के प्रति निष्ठा को महसूस किया
सोनिया ने आगे लिखा है कि एसपीजी एक असाधारण फोर्स है। इसके सदस्य हर दिए गए टॉस्क के प्रति पूरी निष्ठा और देशप्रेम के साथ काम करते हैं। अंत में उन्होंने सभी को धन्यवाद देते हुए आगे की लिए शुभकामनाएं भी दी हैं।

केंद्र सरकार ने गांधी परिवार की सुरक्षा कम करने का फैसला लिया था।
केंद्र सरकार ने शुक्रवार को गांधी परिवार की सुरक्षा कम करने का फैसला लिया था। जिसके तहत उनको मिला SPG सुरक्षा घेरा हटा कर एसपीजी की जगह Z+ सुरक्षा दी गई है। बताया जा रहा है कि यह निर्णय सभी सुरक्षा एजेंसियों से मिले इनपुट्स के आधार पर लिया गया है। सूत्रों के मुताबिक पिछले कुछ समय में गांधी फैमिली पर किसी तरह के हमले की कोई धमकी या उसकी आशंका नहीं थी इसी वजह से सरकार की तरफ से सुरक्षा कम करने का फैसला लिया गया।


भोपाल: धारा 144 के कारण,स्व.अर्जुन सिंह की मूर्ति के अनावरण का कार्यक्रम स्थगित, अजय सिंह नें दी जानकारी।


भोपाल: सर्वोच्च न्यायालय के अयोध्या मंदिर पर दिये गये ऐतिहासिक निर्णय के मद्देनज़र, भोपाल में लगी धारा 144 के कारण आगामी 11 नवम्बर को आयोजित, मध्ययप्रदेश केे पूर्व मुख्यमंत्री स्व. अर्जुन सिंह की मूर्ति के अनावरण का कार्यक्रम स्थगित हो गया है ।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें दी जानकारी।
उक्त जानकारी स्व. अर्जुन सिंह के पुत्र एवं मध्य-प्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें दी।

गौरतलब है की, मध्य-प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. अर्जुन सिंह की प्रतिमा का अनावरण, न्यू मार्केट भोपाल में मुख्यमंत्री कमलनाथ के हांथों से होना था। प्रतिमा अनावरण के कार्यक्रम में, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, कमलनाथ सरकार के मंत्री डा. गोविंद सिंह, जयवर्धन सिंह, आरिफ अकील एवं पीसी शर्मा, महापौर भोपाल अलोक शर्मा, भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर, विधायक आरिफ मसूद, श्रीमती कृष्णा गौर, विश्वास सारंग एवं रामेश्वर शर्मा को उपस्थित होना था, यह जानकारी भोपाल नगर पालिक निगम आयुक्त विजय दत्ता द्वारा दी गयी थी।

VIDEO: पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने, अयोध्या में राम मंदिर पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हुये स्वागत किया।


रीवा: एक निजी कार्यक्रम में रीवा पहुंचें पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने अयोध्या में राम मंदिर पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हुये स्वागत किया है। वो मऊगंज के पूर्व कांग्रेस विधायक सुखेन्द्र सिंह बन्ना, के रीवा स्थित आवास पर उपस्थित पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे। साथ ही उन्होनें पत्रकार वार्ता में , गांधी परिवार की SPG सुरक्षा हटाये जानें, नये पीसीसी चीफ़ के चयन में हो रही देरी के साथ साथ अन्य कई मुद्दों पर भी, पत्रकारों द्वारा पूछें गये सवालों का जवाब दिया।

अयोध्या में राम मंदिर पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हुये स्वागत किया।
अयोध्या फैसले पर उन्होनें कहा की,अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी द्वारा सोनिया गांधी की उपस्थिती में आज उच्चस्तरीय बैठक हुई, जिसमें सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हुये स्वागत किया गया, साथ ही देश में एकता और भाईचारा बनायें रखनें की बात कही गई। आगे अजय सिंह नें कहा की यह बर्षों पुराना मुद्दा आज शांत हो गया, जिसका हम स्वागत करते है।

गांधी परिवार की SPG सुरक्षा हटाये जानें के सवाल पर।
पत्रकारों द्वारा गांधी परिवार की SPG सुरक्षा हटाकर Z+, सुरक्षा दिये जानें के सवाल पर जवाब देते हुये पूर्व नेता प्रतिपक्ष नें कहा की, यह केंद्र सरकार का निर्णय है, और इसका जवाब केंद्र सरकार ही दे पायेगी, लेकिन गांधी परिवार की सुरक्षा की जिम्मेदारी भी केंद्र सरकार की है, जो हर हाल में सुनिश्चित की जानी चाहिये।

ST/ SC समाज के लोंगो की मुलाकात के सवाल पर।
पत्रकारों द्वारा पूछें गये इस सवाल पर श्री सिंह नें कहा, की वो लोग अपनें समाज से जुड़ें हुये कुछ सुझाव दियें है, जो मै मुख्यमंत्री कमलनाथ तक पहुंचा दूंगा।

किसानों की कर्जमाफी के सवाल पर।
पत्रकारों ने कहा की अभी हाल में ही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रीवा आये थे और उन्होनें किसानों के कर्जमाफी पर कई सवाल खड़े किये थे, जिस पर अजय सिंह नें कहा की, कमलनाथ सरकार अपनें वचनपत्र को पूरा करनें के लिये प्रतिबद्ध है, उन्होनें आगे कहा की पिछली भाजपा सरकार जो बित्तीय संसाधन का संकट छोड़ के गयी है, उसके बाद भी कर्जमाफी हुई है, आगे जल्द ही किसानों के कर्ज माफ किये जायेंगे।

पीसीसी चीफ़ के चयन में हो रही देरी के सवाल पर।
पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें कहा की, मुख्यमंत्री कमलनाथ जो की पीसीसी चीफ़ भी है, सोनिया गाँधी से मिलकर यह बोल चुकें हैं की, की उन्हें दोहरी जवाबदारी से अलग किया जाय और जल्द नया अध्यक्ष चुना जाय, अब गेंद सोनिया जी के पाले में है,आगे उन्होनें कहा की, इस मसले पर जितनी जिग्ज्ञासा आप लोगों को है उतनी ही हम लोंगों को भी है।

पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह और अभी के मुख्यमंत्री कमलनाथ की कार्यशैली में क्या अंतर, के सवाल पर।
इस सवाल के जवाब पर श्री सिंह ने कहा की, इस बात की तुलना नही की जा सकती, समय के अनुसार परिस्थितियां अलग-अलग होतीं है,  साथ ही प्राथमिकतायें भी अलग अलग होतीं है, आगे उन्होनें आगे कहा की मुख्यमंत्री कमलनाथ भी स्व. अर्जुन सिंह के अखाड़े से ही निकलें हैं और प्रदेश के बेहतर भविष्य के लिये कार्यरत हैं।

पंचायत एवं निकाय चुनावों की तैयारी के सवाल पर।
पत्रकारों नें कहा की, हाल ही में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रीवा आये थे और कहा था की हमारी तैयारी पंचायत एवं निकाय चुनाव के लिये सही तरीके से चल रही, इस पर अजय सिंह नें पलटवार करते हुये कहा की शिवराज सिंह आजकल अपनी ही पार्टी में अस्त व्यस्त हैं, हमारी तैयारी उनसे कही बेहतर चल रही।

देंखें वीडियो 👇👇


Saturday, 9 November 2019

AYODHYAVERDICT: सीधी, कानून व्यवस्था बनाये रखनें हेतु चप्पे-चप्पे में रही पुलिस एवं प्रशासन की नजर, जिले में शांति व्यवस्था कायम।


सीधी: आयोध्या मामले में माननीय उच्चतम न्यायालय के फैसले को देखते हुए जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन पूरी तरह सतर्क रहा। कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु जिला दण्डाधिकारी द्वारा सभी सेक्टरों में कार्यपालिक दण्डाधिकारियों तथा पुलिस अधिकारियों की संयुक्त तैनातगी की गई थी, जो दिन भर पेट्रोलिंग कर कानून व्यवस्था की मानीटरिंग करते नजर आए।

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रवीन्द्र कुमार चौधरी तथा पुलिस अधीक्षक आर एस बेलवंशी सतत रूप से कानून व्यवस्था की मानीटरिंग करते रहे तथा भ्रमण कर कानून व्यवस्था का जायजा लिया। पूरे जिले में शांति व्यवस्था बनी रही। जिले में स्थिति सामान्य है।  जिले में कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु जिला एवं पुलिस प्रशासन द्वारा पूर्व से ही तैयारियां शुरू की गई थी। जिले के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यपालिक दण्डाधिकारियों तथा पुलिस अधिकारियों द्वारा विभिन्न समुदायों के लोगों के साथ बैठकर जिले में अमन चैन कायम रखने के लिए आपसी सौहार्द एवं भाई चारे का वातावरण बनाये रखने की अपील की गई थी, जिसका लोगों पर व्यापक असर देखने को मिला। इसके साथ ही जिला प्रशासन द्वारा कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु सीधी जिले की राजस्व सीमा में निषेधाज्ञा लागू की गई थी। सोशल मीडिया में बिना जानकारी के समाचारों का आदान प्रदान नही करने, आपसी सौहार्द एवं भाईचारे को ठेस पहुचाने वाले चैटिंग नही करने, लोगों को संयम बरतने आदि के संबंध में सलाह जारी की गई है। साथ ही सोशल मीडिया की मानीटरिंग की व्यवस्था तथा निषेधाज्ञा आदेश भी जारी किए गए थे। लोगों में सुरक्षा का विश्वास बनाने हेतु प्रमुख जगहों में कार्यपालिक दण्डाधिकारियों एवं पुलिस अधिकारियों द्वारा संयुक्त रूप से फ्लैग मार्च निकाले गये , इसके अतिरिक्त प्रातः काल से प्रमुख जगहो में पुलिस तैनात की गई थी। कार्यपालिक दण्डाधिकारी तथा पुलिस द्वारा प्रातः 6 बजे से ही पेट्रोलिंग करना प्रारंभ कर दिया गया था। सार्वजनिक स्थानां बस स्टैण्ड, धार्मिक स्थानों सहित प्रमुख स्थलों पर भी पुलिस की कड़ी चौकसी देखी गई। 
आयोध्या मामले के फैसले को देखते हुए शिक्षण संस्थानों स्कूल एवं महाविद्यालयों में प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार अवकाश घोषित किया गया था। सामान्य दिनों की तरह आज भी जन जीवन सामान्य रहा। लोग आसानी से अपने काम काज के लिए रोजाना की तरह निकले। सभी समाज के लोगों ने आयोध्या मामले में उच्चतम न्यायालय द्वारा दिए गए निर्णय का सम्मान करने तथा लोगों से आपसी भाई चारा बनाये रखने की अपील की है।

कलेक्टर श्री चौधरी ने की शांति व्यवस्था बनाये रखने की अपील।
कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी ने लोगों से शांति व्यवस्था बनाये रखने की अपील की है। उन्होने कहा कि सीधी जिले का इतिहास गौरवपूर्ण रहा है। जिलावासी सदैव आपसी भाई चारे के साथ रहते है । इस परंपरा को हमें हर स्थिति में बनाये रखना चाहिए। सभी लोग एक दूसरे की मदद करें तथा दूसरों को आघात या ठेस पहुचाने वाली बातें नही करें । 

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में या किसी अन्य ग्रुप में कोई ऐसी न्यूज, खबर, संदेश, फॉरवर्ड संदेश या सचित्र संदेश को फॉरवर्ड न करे जिसके सत्यता के बारे में आप शत-प्रतिशत सुनिश्चित न हो। खास कर धार्मिक, राजनीतिक, सामाजिक तरह के घृणा या नफरत फैलाने वाले संदेशों का आप सब भी खुल के विरोध करें और अपने आस पास के लोगों को भी ऐसा करने से रोके। जिले/थाना या बाहर की कोई भी  खबर को बिना सत्यता जांच और पुलिस की पुष्टि के संभावना के आधार पर ग्रुप में न चलाएं।

AYODHYAVERDICT: अयोध्या में राम मंदिर बनेगा, आइये जानतें है, सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले की प्रमुख बातें।


नई दिल्‍ली: अयोध्‍या केस में सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को बड़ा फैसला सुनाया है। भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्‍यक्षता वाली पांच जजों की पीठ ने विवादित जमीन को रामलला विराजमान को देने का फैसला सुनाया।साथ ही सरकार को यह भी आदेश दिया कि वह सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड को अयोध्‍या में कहीं भी पांच एकड़ जमीन मुहैया कराए।

आइये जानतें है, सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले की प्रमुख बातें।
  •  सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन को रामलला विराजमान को देने का फैसला सुनाया।
  • सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि रामलला विराजमान को जमीन के लिए ट्रस्‍ट बनाया जाए. केंद्र सरकार 3 महीने में मंदिर के लिए योजना तैयार करे।
  •  2.77 एकड़ विवादित जमीन पर सरकार का हक रहेगा. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राम जन्मभूमि एक न्यायिक व्यक्ति नहीं हैं।
  • विवादित जमीन को लेकर बनने वाले ट्रस्‍ट में निर्मोही अखाड़े को जगह दी जाए. हालांं‍कि जमीन को लेकर निर्मोही अखाड़े और सुन्नी वक्फ बोर्ड के दावे खारिज किए गए।
  • एएसआई की रिपोर्ट में जमीन के नीचे मंदिर के सबूत मिले। प्राचीन यात्रियों ने जन्‍मभूमि का जिक्र किया है।
  • सुप्रीम कोर्ट ने रामलला विराजमान को कानूनी मान्यता दी. लेकिन राम जन्मभूमि को न्यायिक व्यक्ति नहीं माना।सीजेआई रंजन गोगोई ने फैसला पढ़ते हुए कहा कि खुदाई में मिला ढांचा गैर इस्लामिक था।
  • अंदरूनी हिस्‍सा विवादित है। हिंदू पक्ष ने बाहरी हिस्‍से पर दावा साबित किया है।
  • सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इतिहास जरूरी है, लेकिन इन सबमें कानून सबसे ऊपर है, सभी जजों ने आम सहमति से फैसला लिया है।आस्‍था पर जमीन के मालिकाना हक का फैसला नहीं।
  • संविधान की नजर में सभी आस्‍थाएं समान हैं. कोर्ट आस्‍था नहीं सबूतों पर फैसला देती है।
  • सीजेआई रंजन गोगोई ने फैसला पढ़ते हुए कहा कि सभी धर्मों को समान नजर से देखना सरकार का काम है. अदालत आस्था से ऊपर एक धर्म निरपेक्ष संस्था हैं।

अयोध्या फैसला: म.प्र. में सभी शैक्षणिक संस्‍थानों में अवकाश की घोषणा। सीएम कमलनाथ नें की शांति की अपील।


भोपाल/ सीधी: अयोध्या में राम मंदिर विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला शनिवार 09 तारीख को आएगा ।
जिसको देखते हुये पूरे देश के साथ साथ मध्यप्रदेश में भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। फैसले के बाद किसी भी प्रकार की अप्रिय स्तिथि न बने इसको लेकर पुलिस पूरी तरह मुस्तैद है। मध्य प्रदेश में पुलिस अलर्ट पर है और सभी जिलों में सुरक्षा में जवान तैनात किये गए हैं। सरकार ने मध्‍यप्रदेश में सभी शैक्षणिक संस्‍थानों में अवकाश की घोषणा कर दी है। शनिवार को स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे।
मध्यप्रदेश शासन, स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा सूचना जारी कर शनिवार को सभी निजी एवं शासकीय स्कूलों में छुट्टी घोषित की है ।इसके अलावा कॉलेजों में छुट्टी रहेगी।

अयोध्या को लेकर सुनाए जाने वाले फैसले के मद्देनजर मध्‍यप्रदेश सरकार भी काफी सतर्क तथा एहतियात बरत रही है। इसी को लेकर इस तरह का निर्णय लिया गया है। सभी जिलों में कल धारा 144 लागू रहेगी।  5 और 5 से अधिक लोगो के एकत्रित होने पर प्रतिबंध लगाया गया। वहीं आतिशबाजी ,पटाखें छोड़ने पर भी प्रतिबंध रहेगा।
मुख्य सचिव ने दिए सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने के निर्देश
इससे पहले शुक्रवार मुख्य सचिव सुधिरंजन मोहंती ने कमिश्नर और कलेक्टरों से वीडियो कांफ्रेंस के जरिए कानून व्यवस्था को लेकर फीडबैक लिया। उन्होंने कहा कि बीस साल पहले जो व्यक्ति दंगा या आपराधिक मामलों में लिप्त था, उस पर नजर रखी जाए। ऐसे लोग माहौल खराब करने की परदे के पीछे कोशिश कर सकते हैं। पुलिस सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के वाहनों में डीजल पूरा भरा रहे। बिजली, सड़क, पानी, दवा सहित अन्य जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति का पूरा इंतजाम रखा जाए। मुख्य सचिव ने अधिकारियों से कहा कि जिलों में 144 धारा प्रभावी रहे। कानून व्यवस्था के मद्देनजर जरूरी ड्रिल हो। पुलिस प्रशासन के साथ समन्वय बनाकर रखा जाए। सोशल मीडिया पर नजर रखी जाए। किसी भी, प्रकार की अफवाह न फैलने पाए, इसके लिए निगरानी तंत्र को चुस्त रखें। जरूरी सभी सामग्रियों का इंतजाम रहे।

मुख्यमंत्री कमलनाथ नें, प्रदेश की जनता से अमन-चैन, शांति व सद्भावना की अपील की।
अयोध्या मामले पर आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के मद्देनज़र मैं प्रदेश की जनता से अमन-चैन, शांति व सद्भावना की अपील करता हुँ: सीएम कमलनाथ।
साथ ही उन्होनें अपील की "हर वर्ग से अपील करता हुँ कि जो भी फ़ैसला आये, सभी मिलजुलकर उसका सम्मान व आदर करे"।
"प्रदेश की गंगा-जमुनी की संस्कृति के अनुरूप हम सभी को अपना भाईचारा क़ायम रखते हुए हमारा आपसी सोहाद्र व सद्भाव क़ायम रखना है"।
"किसी भी प्रकार की अफ़वाहो से सावधान व सजग रहे।
क़ानून व्यवस्था के पालन में सभी सहयोग करे"।

Tuesday, 5 November 2019

म.प्र. के पूर्व सीएम स्व. अर्जुन सिंह के जन्मदिवस पर, अजय सिंह के आवास में आयोजित पुष्पांजलि कार्यक्रम में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह सहित उपस्थित हुये कई दिग्गज।


भोपाल: मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, पंजाब के पूर्व राज्यपाल एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे, भारतीय राजनीति के दिग्गज राजनेता स्व. कुंवर अर्जुन सिंह की आज 5 नवंबर को जयंती है। उनकी याद में, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के शिवाजीनगर स्थित आवास C19 में पुष्पांजलि कार्यक्रम के माध्यम से राष्ट्र नेता को श्रद्धा सुमन अर्पित किये गये। पुष्पांजलि कार्यक्रम मेंं पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह सहित कई दिग्गज नेता, कमलनाथ सरकार के कई मंत्री एवं कार्यकर्ता उपस्थित होकर सुमन श्रद्धा अर्पित किये।

पूर्व सीएम एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19,शिवाजी नगर-भोपाल में, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह एवं राज्यसभा सांसद नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19,शिवाजी नगर-भोपाल में, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

सहकारिता मंत्री डा.गोविंद सिंह।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19,शिवाजी नगर-भोपाल में, कमलनाथ सरकार के सहकारिता मंत्री डा.गोविंद सिंह नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

खेल, युवा कल्याण और उच्च शिक्षा मंत्री  जीतू पटवारी।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19,शिवाजी नगर-भोपाल में, कमलनाथ सरकार के खेल, युवा कल्याण और उच्च शिक्षा मंत्री  जीतू पटवारी  नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।


नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19, शिवाजी नगर-भोपाल में, कमलनाथ सरकार के नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

वित्त मंत्री तरुण भनोट।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19, शिवाजी नगर-भोपाल में, कमलनाथ सरकार के वित्त मंत्री तरुण भनोट नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

विधानसभा उपाध्यक्ष हिना कावरें।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19, शिवाजी नगर-भोपाल में, विधानसभा उपाध्यक्ष हिना कावरें नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

विधायक नीलांशू चतुर्वेदी।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19,शिवाजी नगर-भोपाल में, चित्रकूट से कांग्रेस विधायक नीलांशू चतुर्वेदी नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।


विधायक कुणाल चौधरी।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19, शिवाजी नगर-भोपाल में, कालापीपल से कांग्रेस विधायक एवं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष कुणाल चौधरी  नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।


विधायक सुनीता पटेल।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19,शिवाजी नगर-भोपाल में, गाड़ड़वारा से कांग्रेस विधायक सुनीता पटेल नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

पूर्व विधायक सुखेन्द्र सिंह बन्ना।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19, शिवाजी नगर-भोपाल में, मऊगंज से कांग्रेस के पूर्व विधायक सुखेन्द्र सिंह बन्ना नें, उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

पूर्व विधायक एवं रीवा जिला पंचायत अध्यक्ष अभय मिश्रा।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19, शिवाजी नगर-भोपाल में, सेमरिया से पूर्व विधायक एवं रीवा जिला पंचायत अध्यक्ष अभय मिश्रा नें, उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

गुजरात कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भरत सोलंकी।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19,शिवाजी नगर-भोपाल में, गुजरात कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष भरत सोलंकी नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

राज्यसभा सांसद राजमणि पटेल।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19,शिवाजी नगर-भोपाल में, राज्यसभा सांसद राजमणि पटेल नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति दीपक तिवारी।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19,शिवाजी नगर-भोपाल में, वरिष्ठ पत्रकार एवं माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलपति दीपक तिवारी,नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।


मध्यप्रदेश अपेक्स बैंक के प्रशासक अशोक सिंह।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर सी-19,शिवाजी नगर-भोपाल में, मध्यप्रदेश अपेक्स बैंक के प्रशासक अशोक सिंह, नें उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह की जयंती पर, कमलनाथ सरकार के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल नें, चुरहट पहुंच कर उनके प्रतिमा पर माल्यार्पण किया तथा समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया।


मुख्यमंत्री कमलनाथ।
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ नें, मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह की जयंती पर उन्हें ट्विटर के माध्यम से याद करते हुये कहा
"मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.अर्जुन सिंह जी की जयंती पर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर शत-शत नमन करता हुँ।
वे एक सहज,सरल,धैर्यवान,दूरदर्शी व्यक्तित्व के धनी होकर उन्होंने जीवन पर्यन्त सर्वहारा वर्ग के हित के लिये कार्य किया।
मेरे लिये राजनीति में वे सदैव प्रेरणादायी रहे है।वे एक राजनीतिक व्यक्तित्व नहीं बल्कि सच्चे समाजसेवक थे"

पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया।
पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया नें, मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह की जयंती पर उन्हें ट्विटर एवं फेसबुक के माध्यम से याद करते हुये कहा
"कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, पूर्व केन्द्रीय मंत्री, एवं मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री स्व.श्री अर्जुन सिंह जी की जयंती पर उन्हें शत् शत् नमन"


Latest Post

बिजली समस्या को लेकर कांग्रेस की चुरहट इकाई नें, मवई विद्युत वितरण केन्द्र का किया घेराव।

सीधी / चुरहट: काग्रेस पार्टी (चुरहट इकाई) द्वारा बिजली की समस्या को लेकर मवई डी.सी. कार्यालय का घेराव किया गया। गरीब मजदूर, आम जनता एवं किसा...