Sunday, 6 October 2019

म.प्र पटवारियों की हड़ताल "कभी हाँ कभी ना" के बीच लटकी हुई! पटवारी संघ ने कहा हम वापस हड़ताल पर जा रहें।


भोपाल: मध्यप्रदेश में पटवारियों की हड़ताल अब अलग मोड़ लेती हुई, अब तो ऐसा लगनें लगा है की मध्यप्रदेश पटवारी संघ भी फैसला नही ले पा रहा की करना क्या है? क्युकिं आज तो पहले पटवारियों ने मंत्री गोविंद सिंह राजपूत से मुलाकात कर  हड़ताल वापस लेने का ऐलान कर दिया था। लेकिन मंत्री जीतू पटवारी ने इंदौर में जैसे ही कहा कि मैंने कोई माफी नहीं मांगी है। इस पर पटवारी फिर से रूठ गए और ऐलान कर दिया कि सोमवार से काम पर नहीं लौट रहे हैं। मध्यप्रदेश में पटवारियों का हड़ताल जारी रहेगी।

गौरतलब है की कुछ दिन पहले कमलनाथ सरकार के मंत्री जीतू पटवारी ने एक कार्यक्रम में कहा था कि सभी पटवारी भ्रष्ट हैं और बिना पैसा लिए काम नहीं करत, इसके बाद पटवारी हड़ताल पर चले गए। ऐसे में इसका खामियाजा प्रदेश के किसानों को भुगतना पड़ रहा है, जिन्हें पटवारियों के सर्वे के बाद ही मुआवजा मिलना था।

पटवारियों के हड़ताल पर जाने के बाद से ही कमलनाथ सरकार उन्हें लगातार मनाने की कोशिश कर रही थी। राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के आवास पर रविवार को मुलाकात के बाद पटवारी मान भी गए थे। पटवारियों ने मंत्री के साथ बैठक के बाद ऐलान कर दिया था कि सोमवार से काम पर वापस लौट आएंगे। साथ ही सरकार ने इनके वेतन संबंधी मांग को छह महीने में पूरा करने का वादा किया था।

लेकिन जीतू पटवारी का फिर एक बयान आ गया, जीतू बोले मैनें नहीं मांगी माफी, जीतू पटवारी ने कहा कि चर्चा है कि पटवारी मेरे ही कारण हड़ताल पर गए हैं। मैंने पहले भी कहा कि मेरे ब्लॉक में इस तरह की शिकायतें आई हैं, उसी संदर्भ में कहा था। बाद में ये चीजें प्रमाणित भी हुईं। तीन सौ से अधिक शिकायतें पटवारियों के खिलाफ थी। मैं सभी पटवारियों से कहता हूं कि आपके सम्मान को बचाने के लिए मुझे जनता को रोज फेस करना पड़ता है। रोज शिकायतें आती हैं कि बिना पैसे लिए पटवारी काम नहीं करते हैं। ऐसे में पटवारी भाईयों से निवेदन करता हूं कि अपने कॉम का सम्मान बढ़ाना है तो जो भी लोग ऐसे काम कर रहे हैं, उन्हें रोके। नब्बे फीसदी लोग सही काम करते और दस फीसदी गलत, जिनकी वजह से बदनामी होती है।

मंत्री जीतू ने कहा कि ऐसे में किसी को बुरा लगने की जरूरत नहीं है। माफी मांगने की बात पर जीतू पटवारी ने कहा कि माफी-वाफी तो मैंने अभी भी नहीं मांगी है। माफी मांगना एक अलग कथा है। ऐसे में मेरी धारणा को लोगों को समझना चाहिए। मेरी भावना किसी के खिलाफ नहीं है। मैं खुद पटवारी हूं।

जीटू पटवारी के बयान से पटवारी फिर से भड़क गए। पटवारी संघ के अध्यक्ष उपेंद्र बघेल ने कहा कि अभी हमलोगों ने उनका बयान मीडिया में सुना है। उनके बयान सुनने से तो यही लगता है कि उन्होंने खेद प्रकट करने की बजाय कहा कि हम अपने बयान पर कायम हैं। ये सरासर हमारे विभाग और माननीय मंत्री जी का अपमान है। ऐसे में जीतू पटवारी नहीं चाहते हैं कि किसान का काम हो और वे किसान हितैषी बिल्कुल नहीं हैं। ऐसे में अगर वे माफी नहीं मांगते हैं तो हम लोग काम पर नहीं लौटेंगे। हम लोग फिर से वापस हड़ताल पर जा रहे हैं।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना का कहर जारी, जिले में मिले 18 नए कोरोना संक्रमित।

26 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 814 डिस्चार्ज 573 एक्टिव केस 238 मृत्यु 3 सीधी: जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...