Monday, 30 September 2019

VIDEO: मंत्री पटवारी के बयान पर, प्रदेश भर के पटवारी नाराज, सार्वजनिक मंच से खेद प्रगट करनें और माफ़ी की मांग।


सीधी: उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी के बयान कि "सौ फीसदी पटवारी रिश्वत लेते हैं" के बाद से ही प्रदेश में बवाल मच गया है। पटवारी संघ ने मंत्री के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पटवारी संघ से जुड़े पदाधिकारियों ने मंत्री के इस्तीफे और सार्वजनिक रूप से माफी मांगने की मांग की और ये भी साफ कर दिया कि अगर तीन दिन में उनकी मांगें नहीं मानी गई तो वो प्रदेश स्तर पर मंत्री पटवारी के खिलाफ आंदोलन छेड़ देंगे। 
पटवारी संघ मध्य-प्रदेश के प्रांताध्यक्ष उपेन्द्र सिंह बघेल आज सीधी पहुंच कर पटवारियों के साथ मिलकर कलेक्टर को ज्ञापन दिया और मंत्री जीतू पटवारी द्वारा प्रदेश के पटवारियों पर गलतबयानी पर अपनी तीखी प्रतिक्रिया देते हुये कहा, की आज प्रदेश में अतिवृष्टि का माहौल और प्रदेश का किसान परेशान है और किसानों मे साथ सभी पटवारी खडें है, दिन रात सर्वे कर रहें है, ऐसे मे मंत्री जी पटवारियों के साथ खडें होने के बजाय उनपर भ्रष्ट होनें का आरोप लगाकर उनका मनोबल तोड़ रहे हैं, जिसका मध्य प्रदेश पटवारी संघ घोर निंदा करता है।
आगे बोलते हुये श्री बघेल नें कहा की, मंत्री जी नें ट्विटर पर खेद व्यक्त किया है जो हम लोंगो के लिये कोई मायनें नही रखता क्युकी प्रदेश का जादातर किसान और पटवारी ट्विटर का इस्तेमाल नही करते, मंत्री जी सार्वजनिक रुप से खेद प्रगट करें और माफी मांगे , नही तो पूरे प्रदेश का पटवारी आंदोलन पर चला जायेगा।
बता दें कि प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री ने शनिवार को उनके विधानसभा क्षेत्र के रंगवासा में आपकी सरकार-आपके द्वार कार्यक्रम में उनकी यही पीड़ा मंच से उभर आई थी। हजारों की तादाद में मौजूद किसानों और अधिकारियों की मौजूदगी में मंत्री ने कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव को संबोधित करते हुए कहा था कि 100 प्रतिशत पटवारी रिश्वत लेते हैं। बिना पैसा लिए काम ही नहीं करते। मेरे नाम में भी पटवारी है, इसलिए मेरा भी नाम बदनाम होता है।
मंत्री पटवारी ने यह भी कहा था कि पटवारियों से हाथ जोड़कर निवेदन करने पर भी नहीं मानते। कोई किसान ऊपर का पैसा दे रहा है तो वह गलत कर रहा है, उसकी भी जिम्मेदारी है। रिश्वत लेने वाला दोषी है तो देने वाला भी दोषी है। थोड़ा लड़ो, नेताओं को भी झिंझोड़ो, चार बात सुनाओ, क्योंकि आपके वोट की कीमत है। मंत्री ने कलेक्टर से अनुरोध किया कि वे पटवारियों पर लगाम कसें। हालांकि अपने बयान पर बचे बवाल के बाद उन्होंने ट्वीट कर सफाई भी दी कि, लेकिन बात नहीं बनी और पटवारी संघ ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।
देखें वीडियो में, क्या कहा उपेन्द्र सिंह बघेल नें 👇👇


No comments:

Post a comment

Latest Post

किसान आंदोलन को हल्के में न ले केंद्र सरकार, कृषि संबंधी काले क़ानूनों के गंभीर दुष्परिणाम होंगे: अजय।

शिवराज सिंह केंद्र की हाँ में हाँ न मिलाकर प्रधानमंत्री को बताएं जमीनी हकीकत: अजय सिंह। भोपाल: पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि क...