Thursday, 19 September 2019

विधायक शरद कोल का कमलनाथ को झटका ! कहा कि वो बीजेपी के विधायक हैं और रहेंगे।


भोपाल: विधानसभा के मानसून सत्र में भाजपा के विधायक दल से 2 विधायक नारायण त्रिपाठी और शरद कोल, सीएम कमलनाथ के साथ आ गये थे, उन्ही में से एक शरद कोल का हृदय परिवर्तन हो गया है, और उन्होनें कहा की वो भाजपा के हैं और भाजपा में ही रहेंगें।

गौरतलब है की मानसून सत्र में एक विधेयक पर सरकार ने मत विभाजन कराया था, जिसमें शहडोल जिले के ब्यौहारी विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक शरद कोल ने सरकार के समर्थन में वोट किया। इस तरह उन्होंने ऐलान कर दिया कि शरद कोल ने दल बदल लिया है। शरद कोल सीएम कमलनाथ के साथ नजर भी आए और दोनों ने भरत मिलाप जैसे बयान भी दिए थे।
अब शीतकालीन सत्र से पहले शरद कोल ने नया बयान दिया है। उन्होंने कहा मॉब लिंचिंग प्रस्ताव के समर्थन में उन्होंने सरकार के पक्ष में वोट किया था जिसका समर्थन उनकी पार्टी भी कर रही थी। शरद कोल ने कहा कि वे बीजेपी के विधायक हैं और रहेंगे।
अब यह देखना दिलचस्प होगा की कमल नाथ के साथ साथ उनके मंत्रियो का इस पर क्या जवाब आयेगा, क्या दलबदलुओं पर कमलनाथ का भरोसा सही था? क्युकी कांग्रेस के कुछ दिग्गजों के साथ कांग्रेस कार्यकर्ता भी नारायण त्रिपाठी और शरद कोल को कांग्रेस मे लाने पर अपनी असहमति जताई थी।


आईये जानतें हैं, शरद कोल के बारे में।

शरद कोल ने 2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के टिकट पर शहडोल जिले की ब्यौहारी सीट से जीत दर्ज की थी। विधानसभा चुनाव के दौरान ब्यौहारी सीट से कांग्रेस से टिकट मांगा था, लेकिन उन्हें कांग्रेस ने टिकट नहीं दिया। तब वह युवा कांग्रेस के नेता थे। इसलिए विधानसभा चुनाव से ठीक 10 दिन पहले वह कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो गए और ब्यौहारी सीट से बीजेपी ने उन्हें अपना प्रत्याशी बना दिया। वह चुनाव जीतकर विधायक बन गए। उनके पिता आज भी कांग्रेस मे सक्रिय हैं।

No comments:

Post a comment

Latest Post

सीधी: कोरोना का कहर जारी, मिले 24 नए कोरोना संक्रमित केस।

10 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग। कुल संक्रमित 717 डिस्चार्ज 531 एक्टिव केस 183 मृत्यु 3 सीधी : जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० नागेंद्र बिहारी ...