Saturday, 14 September 2019

सीधी:अजय सिंह, कार्यकर्ताओं और नेताओं पर हुये सख्त, कहा कि अपना स्वार्थ एवं हित भूल कर, गाड़ी से नीचे उतरें और लोंगों की लड़ाई लड़े।

साथ ही उन्होनें कहा की मेरे लिये चुनाव जीतना या हारना मायनें नही रखता, मेरा काम जनसेवा है, जो मै करता रहूंगा।।

सीधी : पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा ग्राम हड़बड़ो में आयोजित कार्यकर्ता सम्मलेन में उपस्थित होकर, कार्यकर्ताओं को सम्बोधित किया।
उन्होनें कहा की 15 सालों से भाजपा सरकार को सदन एवं सदन के बाहर घेरने और कार्यकर्ताओं के संघर्ष से आज प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी है। गरीब जनता को प्रदेश सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए संघर्ष आगे भी जारी रहेगा ।

चुनाव हारने का कोई दु:ख नही, जनसेवा सर्वोपरि।
आगे उन्होने कहा कि चुनाव हारने का हमको कोई दु:ख नही है हमारा एकमात्र ही संकल्प था प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने का उसके बनने के बाद मेरा उद्देश्य पूरा हो गया है। लोकसभा चुनाव हारने का हमें जरूर थोड़ा दु:ख है। दु:ख इसलिए है कि सीधी संसदीय क्षेत्र की जनता ने हमें काफी बोट किया किंतु कुछ गड़बड़ी के कारण मैं चुनाव हार गया। उन्होने कहा कि जिस मतदान केन्द्र में मेरे अतिरिक्त किसी अन्य पार्टी को मतदान नही हुआ था वहां हमें वोट ही नही मिले। इस कारण लोकसभा का चुनाव निष्पक्ष हुआ है मुझे विश्वास ही नही होता। उन्होने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है यह मेरी जिम्मेदारी है कि जिले की गरीब जनता को योजना का समुचित लाभ मिले। 

कार्यकर्ताओं को अपने निजी हित की सोच से ऊपर उठकर गरीबों की मदद करने की आवश्यकता है।
आगे श्री सिंह ने कहा कि यह कहना ठीक नही है कि सरकार में कार्यकर्ताओं की सुनवाई नही हो रही है। कार्यकर्ताओं को अपने निजी हित की सोच से ऊपर उठकर गरीबों की मदद करने की आवश्यकता है। उन्होने कहा कि यदि गांव के गरीब को खाद्यान नही मिल रहा है पात्र होने के बाद भी उसका नाम बीपीएल में नही जुड़ रहा है,पेंशन की पात्रता रखे हुए भी बृद्धों, विधावाओं  एवं निराश्रितों को पेंशन का लाभ नही मिल पा रहा है तो इसके लिए एक दो बार अधिकारियों से बात करें और अगर इसके बाद कार्यकर्ताओं की बात नही सुनी जाती तो वह आंदोलन कर अपनी बात सरकार और प्रशासन तक पहुंचाये।

कार्यकर्ताओ को नशीहत, स्थानांतरण, पोस्टिंग, ठेकेदारी एवं काम दिलाने की बात न करें,सार्वजनिक हितों की बात करें, तभी उनकी बात सुनी जायेगी
साथ ही कार्यकर्ताओ को नशीहत देते हुए अजय सिंह राहुल ने कहा कि जो नेता भोपाल मेरे पास मिलने पहुंचते है वह अपनी व्यक्तिगत बात करते है। सार्वजनिक हितों की बात कोई नही करता। कार्यकर्ता अब स्थानांतरण, पोस्टिंग, ठेकेदारी एवं काम दिलाने की बात न करें। बिजली पानी,पेंशन,खाद्यान व गांव की जो भी समस्याएं है सार्वजनिक हितों को ध्यान में रखकर बात करें तभी उनकी बात सुनी जायेगी। उन्होने कहा कि यहां पंचायतों में सचिव नही है। पंचायतों के कार्य प्रभावित है कांग्रेस अध्यक्ष बतायें कि उन्होने इस संबध में कलेक्टर से बात की या नही। जिस पर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रूद्रप्रताप सिंह बाबा ने कहा कि दो दिन पूर्व ही कलेक्टर को ग्राम पंचायतो में सचिव की पदस्थापना के संबंध में पत्र दिया है। जिस पर अजय सिंह  ने कहा कि इस तरीके से काम नही चलेगा। कार्यकर्ताओं एवं आम जनता की जो समस्याएं है उसके लिए अधिकारियों से बात करें यदि वह बात नही सुनते या अमल नही करते तो संघर्ष करने में कतई पीछे न हटा जाय।

कांग्रेस मे कार्यकर्ता कम नेता जादा ।
उन्होनें ये भी कहा आज कांग्रेस मे कार्यकर्ता कम नेता जादा हो गये है, उन्होने सभी नेताओं व कार्यकर्ताओं को सख्त लहजे में कहा कि गाड़ी से नीचे उतरकर लोंगों के लड़ाई लड़ी जाय तथा अपना स्वार्थ एवं हित भूल जायें और आम जनता की मदद व सेवा में जुट जायें।

सरकार की योजनाओं लाभ समाज के अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति तक पहुंचाने की आवश्कता।
जिस उद्देश्य के साथ प्रदेश की जनता ने कांग्रेस की सरकार बनाई है उनके उद्देश्यों पर खरा उतरने की जरूरत है। कमलनाथ सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का समुचित लाभ समाज के अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति तक पहुंचाने की जबावदेही सभी कांग्रेस नेताओं की है।

पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के बक्तव्य का वीडियो देखनें के लिये सीधी CHRONICLE के फेसबुक पेज पर विजिट करें।

No comments:

Post a comment

Latest Post

ललित सुरजन का निधन पत्रकारिता के लिए बड़ी क्षति: अजय सिंह।

ललित सुरजन में मायाराम सुरजन के पूरे गुण विद्यमान थे: अजय सिंह। भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा है कि मै...