Thursday, 26 November 2020

बिजली समस्या को लेकर कांग्रेस की चुरहट इकाई नें, मवई विद्युत वितरण केन्द्र का किया घेराव।



सीधी / चुरहट: काग्रेस पार्टी (चुरहट इकाई) द्वारा बिजली की समस्या को लेकर मवई डी.सी. कार्यालय का घेराव किया गया। गरीब मजदूर, आम जनता एवं किसानों की समस्या को लेकर काग्रेस पार्टी नें अघोषित बिजली कटौती, मनमाना बिजली का बिल, बिजली विभाग के कर्मचारियों द्वारा बिना किसी कारण किसानों पर फर्जी प्रकरण दर्ज करवाने, लो वोल्टेज की समस्या, डी. सी. कार्यालय अंतर्गत हर गांव में ट्रांसफार्मर की कमी एवं जले ट्रांसफार्मर को रिपेयर करने में लापरवाही बरतने आदि की समस्या को लेकर धरना प्रदर्शन किया।


कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री ज्ञान सिंह ने कहा की आज किसान को सबसे ज्यादा बिजली कि जरुरत है, क्या उसे बिजली मिल रहीं हैं! नही मिल रहीं हैं क्युकी बिजली की अघोषित कटौती से किसान परेशान हैं। अगर बिजली है तो लो वोल्टेज भी बड़ी समस्या है। बिजली विभाग के कर्मचारियों द्वारा किसानों पर फर्जी प्रकरण दर्ज होना किसानो पर एक तरह से दोहरी मार है। उन्होनें आगे कहा की मैं जब यूथ कांग्रेस का जिला अध्यक्ष था तब एक चुरहट काग्रेस कार्यकर्ता के ऊपर फर्जी मुकदमा कायम हुआ था। तब पुरे चुरहट के यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने ऐतिहासिक एस डी ओ पी कार्यालय का घेराव किया था, घेराव के तीन दिन के अंदर चुरहट एस डी ओ पी का का ट्रांसफर हुआ था।


भारत सिंह  ने कहा किसान, गरीब मजदूर, आम जनता को बिजली की  समस्या 15 दिन के अन्दर हल नही हुई तो फिर तैयार रहे एक बड़े आंदोलन के लिए।


रामविलास पटेल ने कहा बिजली की समस्या बहुत बड़ी हैं आज के समय किसान, मजदूर, आम आदमी  परेशान हैं।


शंभू प्रसाद गौतम ने कहा आज किसान को सबसे बड़ी समस्या बिजली है। खाद की समस्या भी किसान को है, पर कोई ध्यान नहीं देता। कांग्रेस पार्टी की जब सरकार थी तब बिजली का बिल 100 रू. आता था और अब कोई सीमा नही।


कमलेंद्र सिंह नें कहा कि मवई डी. सी. अंतर्गत कई गांवों में ट्रांसफार्मर की कमी और जहा ट्रांसफार्मर जल गए हैं उनका ठीक तरीके से रिपेयर नही किया गया। लापरवाही बरती गई जिससे किसान, आम नागरिक एवं गरीब मजदूर को बड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा है


पंकज सिंह ने कहा, किसान, आम नागरिक, गरीब मजदूर आज बिजली के भारीभरकम बिल के बोझ से दबा हुआ हैं । बिजली विभाग के अड़ियल रवैए से जनता परेशान हैं किसान किससे गुहार लगाए। गरीब मजदूर की हालत इतनी दयनीय हैं कि वो इतने भारी भरकम बजली के बिल को कैसे भरेगा। आज कल तो बिजली के तार मे नही बिजली के बिल में करेंट लगता है।


विजय सिंह नें मंच संचालन करते हुए कहा कि सीमा में जवान और खेत में किसान अपना खून पसीने से देश को सींचा है । आज किसान की स्थिति बहुत दयनीय है।


धरना प्रदर्शन में कांग्रेस के कई  पदाधिकारी उपस्थित रहे, जिसमें ज्ञान सिंह महामंत्री मध्यप्रदेश काग्रेस कमेटी, भारत सिंह पूर्व विधायक प्रतिनिधि, रामविलास पटेल अध्यक्ष ब्लाक काग्रेस कमेटी, बैजनाथ सिंह, शंभू प्रसाद गौतम पूर्व विधायक प्रतिनिधि, कमलेश्वर सिंह, दर्शन प्रसाद मिश्रा, दिवाकर सिंह, सच्चेलाल सिंह, विजय सिंह चुरहट, आर एन पटेल, अजीत सिंह, कमलेंद्र सिंह डब्बू, पंकज सिंह अध्यक्ष आई टी एवं सोसल मीडिया, ज्ञानेन्द्र सिंह मुन्नू, विजय, भूपेंद्र, प्रभात सिंह राजन, नीरज सिंह, विष्णु विश्कर्मा, उमेश सिंह, उमेश गुप्ता, पिंकू सिंह पोलो, विवेक, रितेंद्र, आदित्य नाथ त्रिपाठी, बुद्धि सागर त्रिपाठी, मुन्नलाल जायसवाल, मुकेश रजक, सुनील वर्मा, पुष्पराज कोल आदि शामिल हैं।

Wednesday, 25 November 2020

सीधी: ब्लॉक कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष पार्टी से निष्कासित, वरिष्ठ नेताओं को गाली-गलौज करने का था आरोप।



सीधी: मध्यप्रदेश विधानसभा के उपचुनावों में मिली हार के बाद से ही कांग्रेस में अंतर्कलह जारी है। प्रदेश स्तर पर कांग्रेस के नेता आपस में एक दूसरे के ऊपर आरोप प्रत्यारोप कर रहें हैं। अब यह अंतर्कलह जिला स्तर तक भी पहुंच गया है। ऐसा ही एक मामला सीधी जिले से आया है, जहां कांग्रेस द्वारा ब्लॉक कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष श्रवण सिंह चैहान को अनुशासनहीनता के आरोप में पार्टी से 6 वर्षाें के लिए निष्कासित कर दिया गया है।

उनके ऊपर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को गाली-गलौज करने का आरोप है। पार्टी नेताओं को अभद्र, अपमानजनक एवं गालियां देने का आडियो वायरल होने के पश्चात जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रूद्र प्रताप सिंह "बाबा" ने श्रवण सिंह चैहान को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

उक्त जानकारी देते हुये जिला कांग्रेस कमेटी के संगठन महामंत्री सुरेश प्रताप सिंह ने बताया है कि उक्त प्रकरण को गम्भीरता से लेते हुये पार्टी से आरोपो का परिक्षण करने के उपरान्त श्रवण सिंह चैहान को तत्काल प्रभाव से पार्टी से आगामी 6 वर्षाें के लिए निष्कासित कर दिया गया है।



अर्जुन सिंह से लेकर कमलनाथ तक सभी के करीबी थे अहमद पटेल, निधन पर अजय सिंह नें जताया दुख।



भोपाल: कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन हो गया है। वह कोरोना पॉजिटिवि होने के बाद करीब एक महीने से अस्पताल में भर्ती थे। गुरुग्राम के अस्पताल में इलाज चल रहा था। बुधवार की सुबह करीब 3.30 उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके बेटे फैजल ने अपने पिता के मौत की पुष्टि की। अहमद पटेल  71 वर्ष के थे।


अहमद पटेल का जाना कांग्रेस के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। गांधी परिवार के बाद अहमद पटेल की गिनती कांग्रेस के सबसे ताकतवर नेताओं में की जाती थी। हमेशा पर्दे के पीछे रहने वाले अहमद पटेल कांग्रेस संगठन के सबसे बड़े स्तंभ थे।जिनकी राजनीतिक कुशलता का लोहा उनके विरोधी भी मानते थे। मध्य प्रदेश की सियासत में कांग्रेस जब-जब मुसीबत में दिखी अहमद पटेल ने तब-तब यहां भी अहम भूमिका निभाई।


कई मौकों पर मध्य प्रदेश कांग्रेस की राजनीतिक दिशा और दशा तय की।

अहमद पटेल को यूं ही कांग्रेस का चाणक्य नहीं कहा जाता था। गुजरात से आने वाले सौम्य स्वभाव के अहमद पटेल कांग्रेस के लिए सबसे बड़े संकटमोचक माने जाते थे। मध्य प्रदेश की सियासत में अर्जुन सिंह, मोतीलाल वोहरा से लेकर वर्तमान में दिग्विजय सिंह और कमलनाथ से उनके संबंध सबसे घनिष्ट माने जाते थे। दिल्ली में सक्रिय रहने वाले अहमद पटेल ने कई मौकों पर मध्य प्रदेश कांग्रेस की राजनीतिक दिशा और दशा तय की।


अर्जुन सिंह के बेहद करीब थे अहमद पटेल।

अहमद पटेल एमपी के पूर्व सीएम अर्जुन सिंह, दिग्विजय सिंह और कमलनाथ के सबसे करीबियों में से एक माने जाते थे। गुजरात में जब केशुभाई पटेल की सरकार गिरी तब वाघेला गुट के विधायकों को मध्य प्रदेश के खजुराहो के एक होटल में ठहराया गया। इस काम को अहमद पटेल, कमलनाथ एवं मध्यप्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह नें ही अंजाम दिया था। जिसके बाद गुजरात में कांग्रेस की सरकार बनी थी।


दिग्विजय सिंह को सीएम बनानें में अर्जुन सिंह के साथ अहमद पटेल की भी भूमिका थी।

इसी तरह मध्य प्रदेश में दिग्विजय सिंह जब पहली बार मुख्यमंत्री बने तब उन्हें इस पद को दिलाने में अर्जुन सिंह के साथ साथ अहमद पटेल की भूमिका भी मानी जाती है। 2018 के विधानसभा चुनाव से पहले कमलनाथ को कांग्रेस में प्रदेश अध्यक्ष पद की कमान दिलाने में भी अहमद पटेल की भूमिका रही।


आठ बार सांसद रहे अहमद पटेल।

अहमद पटेल ने संसद में 8 बार गुजरात का प्रतिनिधित्व किया है। तीन बार लोकसभा सांसद की हैसियत से, तो 5 बार राज्यसभा सांसद की हैसियत से। अहमद पटेल ने कांग्रेस पार्टी में हर अहम जिम्मेदारी उठाई। कांग्रेस पार्टी तो गुजरात में मजबूत किया और यूथ कांग्रेस को पूरे देश में सांगठनिक तौर पर खड़ा किया। आज कांग्रेस में जो भी पुराने नेता दिखते हैं, इत्तेफाक से उनमें से कई यूथ कांग्रेस से निकलकर आए हैं।अहमद पटेल कांग्रेस पार्टी के महासचिव से लेकर कोषाध्यक्ष तक रहे। वो 1977 से 1982 तक पटेल, गुजरात यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष रहे। साल 1991 में पटेल को कांग्रेस वर्किंग कमेटी का सदस्य बनाया गया, जो वे जीवनपर्यन्त बने रहे।


पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नें अहमद पटेल के निधन पर जताया दुख।

मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष एवं पूर्व सीएम अर्जुन सिंह के पुत्र अजय सिंह नें अहमद पटेल के निधन पर गहरा दुख व्यक्त करते हुये कहा- "कांग्रेस पार्टी के स्तंभ, वरिष्ठ राजनेता, राज्यसभा सांसद श्री अहमद पटेल जी के निधन के समाचार से स्तब्ध हूँ। यह कांग्रेस पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति है। परमात्मा दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे और शोकाकुल परिजनों को दुख सहने की सामर्थ्य दे। विनम्र श्रद्धांजलि ।ॐ शांति।"

भाजपा जिलाध्यक्ष के "वायरल ऑडियो" पर कांग्रेस हमलावर, प्रदेश महासचिव नें बताया घृणित तो प्रदेश सचिव नें सांसद से मांगी प्रतिक्रिया।



सीधी: भाजपा जिलाध्यक्ष के वायरल ऑडियो नें सीधी की राजनीति में भूचाल ला दिया है। इस वायरल ऑडियो पर लोग सोशल मीडिया में अपनी प्रतिक्रिया दे रहें हैं। दरअसल, सीधी भाजपा के जिलाध्यक्ष इन्द्रशरण सिंह चौहान का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर बड़ी तेजी से वायरल हुआ है। इस वायरल वीडियो में भाजपा जिलाध्यक्ष किसी महिला से बात करते हुये सुनाई दे रहें हैं। हला की सीधी CHRONICLE इस वायरल ऑडियो की सत्यता की पुष्टि नही करता। लेकिन इस ऑडियो में जो बातचीत हो रही है वह आपत्तिजनक प्रतीत हो रही है। अब इस वायरल ऑडियो को लेकर कांग्रेस हमलावर हो गयी है।


कांग्रेस प्रदेश महामंत्री ज्ञान सिंह नें इसे घृणित और अश्लील बताया।

भाजपा जिलाध्यक्ष के वायरल ऑडियो पर कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री ज्ञान सिंह चौहान नें कड़ी प्रतिक्रिया दी है और ऑडियो में हो रही बातचीत को घृणित और अश्लील बताया है। एक निजी न्यूज़ पोर्टल से बात करते हुये कांग्रेस महामंत्री नें कहा की, भाजपा जिलाध्यक्ष एक जिम्मेदारी का पद है और इस पद पर बैठा हुआ व्यक्ति इस तरह की घृणित और अश्लील बात करे यह कतई उचित नही है। उन्होनें आगे कहा की, इस ऑडियो में साफ साफ सुनाई दे रहा की भाजपा जिलाध्यक्ष द्वारा घूमनें फिरनें और मिलनें जुलनें की बात हो रही है। कांग्रेस प्रदेश महामंत्री नें ये भी कहा की, भाजपा जिलाध्यक्ष ऐसे पद पर बैठें हैं की युवा और समाज उनकी बातों का अनुशरण करता है, और उनकी इस तरह की घृणित और अश्लील बातचीत एक गलत संदेश दे रही है।


प्रदेश कांग्रेस सचिव अरुण सिंह 'चिन्टू' नें इस मसले पर सीधी सांसद रीति पाठक को आड़े हाथों लिया।

प्रदेश कांग्रेस सचिव (आईटी एवं सोशल मीडिया सेल) अरुण सिंह 'चिन्टू' नें भाजपा जिलाध्यक्ष के वायरल ऑडियो को लेकर कहा की, सीधी जिला भाजपा अध्यक्ष का एक ओडियो मीडिया में वायरल हो रहा है, जिसमें वो एक यौन एवं घरेलू हिसा से उत्पीड़ीत महिला की मदद के बहानें उसे अपने झांसे में लेनें की दिशा में प्रयासरत दिख रहे है और उस  पीड़ित महिला पर आयी "आपदा को अवसर" में बदलनें का निंदनीय कृत्य कर रहें हैं।


कांग्रेस प्रदेश सचिव नें आगे कहा की, मैं जिले की सांसद रीति पाठक जो की एक खुद महिला है, जो की पूर्व सीएम कमलनाथ द्वारा चुनावी सभा में दिये गये एक बयान को इमरती देवी से जोड़कर ग्वालियर में प्रेस वार्ता कर रहीं थी, उनसे अनुरोध करता हूं की वो सामनें आये और अपनें जिला अध्यक्ष के इस कृत्य पर अपनी प्रतिक्रिया दें।  


क्या है इस वायरल ऑडियो में?

वायरल हुये ऑडियो में जो महिला भाजपा जिलाध्यक्ष से बातचीत कर रही है, वह घरेलू हिंसा एवं यौन उत्पीड़न की शिकार लग रही है और भाजपा जिलाध्यक्ष से मदद मांगती हुई प्रतीत हो रही है। आगे इस ऑडियो में भाजपा जिलाध्यक्ष उक्त महिला से उसकी कुछ खास तस्वीर मागते हुये सुनाई दे रहें हैं। साथ ही भाजपा जिलाध्यक्ष, महिला को अपनें घर पर किराये से रखनें की बात भी कर रहें हैं। इसके साथ ही भाजपा जिलाध्यक्ष, महिला को किसी प्राइवेट हॉस्पीटल में नौकरी दिलवानें की बात करते हुये उसे अपनें साथ घूमनें चलनें का प्रस्ताव भी दे रहें हैं।


भाजपा जिलाध्यक्ष की प्रतिक्रिया।

इस मसले पर एक निजी न्यूज़ पोर्टल नें भाजपा जिलाध्यक्ष इन्द्रशरण सिंह चौहान से बात की, जिसमें उन्होनें स्वीकार किया की वायरल ऑडियो उनका ही हैं। उन्होनें स्वीकार किया की उक्त महिला उनसे एक दो बार मिली है। उन्होनें कहा की वह पीड़ित थी जिसको लेकर मै उसकी मदद करना चाह रहा था। लेकिन कुछ लोग उस लड़की को मोहरा बनाकर उसको मेरे खिलाफ इस्तेमाल कर रहें हैं। उन्होनें आगे कहा की उस लड़की की कोई गलती नही है, वह गहरवार है और मैं चौहान इस नाते मैनें उससे बस थोडा हंसी मजाक कर लिया। उन्होनें आगे कहा की मैनें ना तो कोई आपत्तिजनक और ना ही कोई अश्लील बात की है।

कांग्रेस नेता अहमद पटेल का निधन, कोरोना पॉजिटिव होने के बाद से थे अस्पताल में भर्ती।



सीधी CHRONICLE: कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता अहमद पटेल का निधन हो गया है। वह कोरोना पॉजिटिवि होने के बाद करीब एक महीने से अस्पताल में भर्ती थे। गुरुग्राम के अस्पताल में इलाज चल रहा था। बुधवार की सुबह करीब 3.30 उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके बेटे फैजल ने अपने पिता के मौत की पुष्टि की। अहमद पटेल  71 वर्ष के थे।


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल एक महीना पहले कोरोना वायरस से संक्रमित हुए थे।इसके बाद उनका गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज चल रहा था, लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद उन्हें नहीं बचाया जा सका।अहमद पटेल 15 नवंबर से आईसीयू में भर्ती थे।


बेटे फैजल पटेल ने ट्वीट कर दी जानकारी।

अहमद पटेल के बेटे फैजल पटेल ने ट्वीट कर कहा, ''पिता अहमद पटेल का निधन आज सुबह 3 बजकर 30 मिनट पर हुआ है। एक महीने पहले वह कोरोना से संक्रमित हुए थे और शरीर के कई अंगों के काम बंद करने की वजह से उनकी हालत बिगड़ रही थी। खुदा उन्हें जन्नत दे। आप सभी से अनुरोध है कि कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करते हुए भीड़ इकट्ठा न करें और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।''

Tuesday, 24 November 2020

AUDIO: भाजपा जिलाध्यक्ष के वायरल ऑडियो पर बवाल, जानिये जिलाध्यक्ष की प्रतिक्रिया?



सीधी: आज सीधी के राजनैतिक गलियारे में एक वायरल ऑडियो नें भूचाल ला दिया। आज दिनभर इस वायरल ऑडियो की चर्चा पूरे जिले में होती रही। दरअसल, सीधी भाजपा के जिलाध्यक्ष इन्द्रशरण सिंह चौहान का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर बड़ी तेजी से वायरल हुआ। इस वायरल वीडियो में भाजपा जिलाध्यक्ष किसी महिला से बात करते हुये सुनाई दे रहें हैं। हला की सीधी CHRONICLE इस वायरल ऑडियो की सत्यता की पुष्टि नही करता। लेकिन इस ऑडियो में जो बातचीत हो रही है वह आपत्तिजनक प्रतीत हो रही है।

क्या है इस वायरल ऑडियो में?

वायरल हुये ऑडियो में जो महिला भाजपा जिलाध्यक्ष से बातचीत कर रही है, वह घरेलू हिंसा एवं यौन उत्पीड़न की शिकार लग रही है और भाजपा जिलाध्यक्ष से मदद मांगती हुई प्रतीत हो रही है। आगे इस ऑडियो में भाजपा जिलाध्यक्ष उक्त महिला से उसकी कुछ खास तस्वीर मागते हुये सुनाई दे रहें हैं। साथ ही भाजपा जिलाध्यक्ष, महिला को अपनें घर पर किराये से रखनें की बात भी कर रहें हैं। इसके साथ ही भाजपा जिलाध्यक्ष, महिला को किसी प्राइवेट हॉस्पीटल में नौकरी दिलवानें की बात करते हुये उसे अपनें साथ घूमनें चलनें का प्रस्ताव भी दे रहें हैं।

भाजपा जिलाध्यक्ष की प्रतिक्रिया।

इस मसले पर एक निजी न्यूज़ पोर्टल नें भाजपा जिलाध्यक्ष इन्द्रशरण सिंह चौहान से बात की, जिसमें उन्होनें स्वीकार किया की वायरल ऑडियो उनका ही हैं। उन्होनें स्वीकार किया की उक्त महिला उनसे एक दो बार मिली है। उन्होनें कहा की वह पीड़ित थी जिसको लेकर मै उसकी मदद करना चाह रहा था। लेकिन कुछ लोग उस लड़की को मोहरा बनाकर उसको मेरे खिलाफ इस्तेमाल कर रहें हैं। उन्होनें आगे कहा की उस लड़की की कोई गलती नही है, वह गहरवार है और मैं चौहान इस नाते मैनें उससे बस थोडा हंसी मजाक कर लिया। उन्होनें आगे कहा की मैनें ना तो कोई आपत्तिजनक और ना ही कोई अश्लील बात की है।

वायरल ऑडियो।

वायरल ऑडियो के लिये सीधी CHRONICLE के फ़ेसबुक पेज पर क्लिक करें।











Saturday, 21 November 2020

सीधी: मिले 18 नए कोरोना संक्रमित, 20 व्यक्तियों ने जीती कोरोना से जंग।



सीधी: मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा जानकारी दी गई कि शनिवार कि शाम तक में  रैपिड एंटीजन किट द्वारा 98 टेस्ट किए गए जिसमें से फीवर क्लीनिक जिला अस्पताल से 3, रामपुर नैकिन से 1, सेमरिया से 4 रीवा मेडिकल कॉलेज वायरोलॉजी लैब से 10 इस प्रकार से कुल 18 पॉजिटिव केस कि रिपोर्ट प्राप्त हुई है। उन्होंने बताया कि उक्त सभी पॉजिटिव केस को आइसोलेशन में भर्ती करने की तैयारी एवं कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और कंटेन्मेंट एरिया बनाने की कार्यवाही की जा रही है।  


सी.एम.एच.ओ. ने बताया कि कोरोना संक्रमण से 20 लोगों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। सभी को अपने घर पर होम आइसोलेशन में एक सप्ताह रहने के लिए समझाइश देते हुए आवश्यक दवाओं के सेवन करने के लिए दवा प्रदान की गई है तथा सभी को आवश्यक सावधानियां रखने की सलाह दी गई है।


अब जिले में कुल 1609 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। अब तक 1467 व्यक्तियों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है। अब जिले में कुल एक्टिव केस 132 हो गए हैं।

Latest Post

बिजली समस्या को लेकर कांग्रेस की चुरहट इकाई नें, मवई विद्युत वितरण केन्द्र का किया घेराव।

सीधी / चुरहट: काग्रेस पार्टी (चुरहट इकाई) द्वारा बिजली की समस्या को लेकर मवई डी.सी. कार्यालय का घेराव किया गया। गरीब मजदूर, आम जनता एवं किसा...